अगर पक्षियों से करते हैं प्यार तो यहां भी जाइए

नई दिल्ली। अगर आप प्रकृति के प्रेमी है तो आपको हो सकता है की पक्षियों से भी प्यार हो

अगर ऐसा है तो आप बर्ड सैंक्चुअरी या पक्षी अभयारण्य में घूम सकते हैं।

आइये आपको पक्षी अभयारण्य के बारे में कुछ जानकारी देते है|

पक्षी प्रेमियों के लिए राजस्थान में कई अच्छी जगह है जिसमे से भरतपुर में बना

केवलादेव घाना राष्ट्रीय उद्यान भी एक बेहतर स्था‍न साबि‍त हो सकता है।

यहां क्रेन, पेलिकन, गुई, बतख, ईगल्स, वाग्टेल्स और वॉर्बलर्स जैसे पक्षियों को आसानी से देख सकते हैं।

यहाँ स्थानीय पक्षि‍यों के अलावा बड़ी संख्या में प्रवासी पक्षी भी होते हैं, इनमे से कई पक्षी मध्य एशिया के भी होते है

सुल्तानपुर बर्ड सैंक्चुअरी

एशियाई कोयल, पीला वाग्टेल, रोज़ी पेलिकन, यूरेशियन विजेन, कॉमन टील और साइबेरियन क्रेन जैसी पक्षी बहुत

प्यारे लगते हैं | सर्दियों में कई विदेशी पयर्टक भी घूमने आते है और इन सुन्दर पक्षियों की तस्वीरें लेते है|

चिल्का झील बर्ड सैंक्चुअरी

वाक़ई में सर्दियों में घूमने का अपना ही मज़ा है ओडिशा की चिल्का झील भी पक्षी प्रेमि‍यों के लिए शानदार जगह है |

यहां पर समुद्री ईगल्स, ग्रेलेग गुइज और बैंगनी मूरिन जैसी अनोखी प्रजातियों के पक्षि‍यों का जमावड़ा रहता है।

इस झील में कई छोटे द्वीप हैं, जिनमें रंग-बिरंगे पक्षियों को उड़ते हुए कैमरे में कैद करना काफी अच्छा लगता है।

इसके अलावा ब्लैकबक, गोल्डन गॉल्स और क्रस्टेशियंस, मछली और प्रसिद्ध चिल्का डाल्फिन भी देख सकते हैं।

नल सरोवर बर्ड सैंक्चुअरी

गुजरात के अहमदाबाद शहर में नल सरोवर पक्षी सैंक्चुअरी भी पक्षी प्रेमि‍यों के लिए एक अच्छी जगह है।

यहां पर नवंबर से फरवरी तक का समय दुर्लभ पक्षिलयों को देखने के हि‍साब से बेस्ट है।

नल सरोवर पक्षी सैंक्चुअरी में गुलाबी पेलिकन, फ्लेमिंगो, व्हाइट स्टॉर्क, ब्राह्मण बतख, बैंगनी मूरिन, भूरी और

सफेद बेडिग बर्ड, प्लोमवर्स, ब्लै क टेल्ड् गोडविट, सैंडपाइपर्स फ्लॉक के अलावा उल्लू काफी मशहूर हैं।

यहां पर भी इन महीनों में प्रवासी पक्षि‍यों की काफी भीड़ दिखाई देती है।

थिटेकड़ बर्ड सैंक्चुअरी

थिटेकड़ पक्षी अभयारण्य जो केरल में स्थित है यह अभयारण्य विभिन्न प्रकार के कुक्कुओं के लिए जाना जाता है।

इसको कोक्यू स्वर्ग’ के नाम से भी पुकारा जाता है | यहाँ बहुत से पक्षी प्रेमी आते है

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...