अगला सुपरबग बन सकती है नई यौन बीमारी माइकोप्लाज्मा जननांग

0
310

लंदन। विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि एक छोटा सा यौन संक्रमण माइकोप्लाज्मा जननांग (एमजी) अगला सुपरबग बन सकता है। विशेषज्ञों ने कहा कि जब तक लोग इसके बारे में अधिक सतर्क होंगे, तब तक सुपरबग हमारे सामने आ चुका होगा।
उन्होंने कहा कि माइकोप्लाज्मा जननांग (एमजी) का यूं तो इसका कोई असर नहीं होता है, लेकिन, इससे महिलाओं के प्राइवेट पार्ट (श्रोणि) में सूजन आ सकती है। महिलाओं में बांझपन की समस्या भी हो सकती है। विशेषज्ञों का कहना है कि यदि समय रहते एमजी का उपचार नहीं किया जाता है तो इस पर एंटीबायोटिक दवाओं का भी असर नहीं होता है।

नई सलाह जारी

ब्रिटिश एसोसिएशन ऑफ लैंगिक हेल्थ एण्ड एचआईवी ने लोगों के लिए यह नई सलाह जारी की है।

इस सलाह में बताया गया है कि एमजी की पहचान कैसे करें और किस तरह का इलाज सर्वोत्तम है।

यह है एमजी

माइकोप्लाज्मा जननांग एक बैक्टीरिया है, जो पुरुषों के मूत्रमार्ग की सूजन का कारण बन सकता है।

इससे पेशाब करते समय असहनीय दर्द होता है।

महिलाओं में यह प्रजनन अंगों (गर्भ और फैलोपियन ट्यूब) की सूजन का कारण बन सकता है, जिससे दर्द और संभवत:

बुखार भी आ जाता है। कई बार खून आने की भी समस्या हो जाती है।

विशेषज्ञों का कहना है कि किसी के साथ असुरक्षित यौन सम्बंध रखने से यह समस्या ज्यादा होती है।

कण्डोम के जरिए इस समस्या से बचा जा सकता है।

विशेषज्ञों का कहना है कि एमजी हमेशा लक्षण पैदा नहीं करता है और ना ही हमेशा इलाज की आवश्यकता होती है।

इसे क्लैमिडिया जैसे विभिन्न यौन संक्रमण के लिए जाना जाता है।

सभी जगह नहीं टेस्ट की सुविधा

एमजी के लिए ब्रिटेन में हाल ही में टेस्ट विकसित किए गए हैं,लेकिन, सभी क्लीनिकों में अभी तक उपलब्ध नहीं हैं।

एंटीबायोटिक दवाओं से इसका इलाज किया जा सकता है।

इस संक्रमण के चलते कई एंटीबायोटिक दवाएं काम भी नहीं करती हैं।

Read Also:
  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...