अपनी गेंदबाजी के दौरान मोइन ने बल्लेबाजों को काफी दबाव में रखा

0
89

नई दिल्ली। जेएनएन चौथा टेस्ट मैच शुरू होने से पहले किसी ने ये सोचा भी नहीं था कि इस मैच में दोनों टीमों के ऑफ स्पिनर्स के बीच इतना जबरदस्त मुकाबला देखने को मिलेगा। लेकिन इस मैच में ऐसा हुआ और खेल के चौथे दिन मोइन अली ने अपने प्रदर्शन से ना सिर्फ टीम को जीत दिलाई बल्कि भारत के सीनियर दिग्गज स्पिनर आर अश्विन को काफी पीछे छोड़ दिया। इस मैच में मोइन ने 9 विकेट झटके और उन्होंने विकेट लेने के मामले में अश्विन से खुद को काफी आगे रखा। अश्विन ने पहली पारी में दो और दूसरी पारी में एक विकेट लिया जबकि मोइन ने पहली पारी में पांच जबकि दूसरी पारी में चार विकेट लिए।

इस मैच में खेल के दूसरे दिन पिच पर ऑफ स्टंप के पास काफी रफ था जिसका फायदा मोइन ने भरपूर तरीके से उठाया और भारत की पहली पारी में 63 रन देकर 5 विकेट लिए। वहीं दूसरी पारी में पूरी दुनिया ने देखा कि अश्विन ने इंग्लैंड के गेंदबाजों के सामने किस तरह की गेंदबाजी की। अश्विन मैच की दूसरी पारी में पिच पर हुए रफ का कोई फायदा नहीं उठा पाए और उन्होंने 84 रन देकर सिर्फ एक विकेट लिया। हालांकि मैच के दौरान अश्विन पूरी तरह से फिट नहीं थे और उनका इलाज चल रहा था लेकिन एक सच ये है कि वो इस तरह की पिच का फायदा उठाने में कामयाब नहीं रहे जिस तरह से मोइन ने फायदा उठाया।

मोइन अली ने मैच की दूसरी पारी में भी पहली पारी जैसा ही रिदम जारी रखा और बेहद नाजुक मौके पर विराट का विकेट लेकर मैच को ही बदल दिया। विराट का विकेट गिरते ही मैच इंग्लैंड के पाले में चला गया। हरभजन सिंह ने मोइन अली की गेंदबाजी के बारे में कहा कि मोइन साइड ऑन एक्शन से गेंदबाजी करते हैं जिसमें शरीर से ज्यादा मदद मिलती है। इसके अलावा उन्होंने अपने पेस का काफी परिवर्तन किए। उनकी गेंदें ना ज्यादा तेज हो रही थी और ना ही ज्यादा स्लो और अपनी गेंदबाजी के दौरान मोइन ने बल्लेबाजों को काफी दबाव में रका।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...