अब फंसे राजावत, पीएम तक पहुंची शिकायत, कानूनी कार्रवाई की मांग

कोटा। विवादित बयान देकर लाडपुरा विधायक भवानी सिंह राजावत फिर फंस गए हैं।
ड़ियालों को मारने के लिए उकसाने वाला बयान दिया जिसके बाद उनकी शिकायत पीएम तक पहुंच गई है।

राजावत ने कहा था कि घड़ियाल मरते हैं तो मरें इंसान नहीं मरना चाहिए। यहां रेत निकलना बंद नहीं होगा।

अपने इस विवादित बयान के बाद वन्य जीव प्रेमियों ने इसकी शिकायत पीएम को पत्र लिखकर की है।

पीपुल्स फॉर एनीमल्स के प्रदेश संयोजक बाबू लाल जाजू ने उनके बयान को सुप्रीम कोर्ट की अवमानना माना और

पीएम मोदी और पार्टी अध्यक्ष, सीएम और सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

चम्बल घड़ियाल सेंचुरी के रंगपुर एरिया में रेत माफिया रेत का अवैध खनन कर रहे हैं।

माफिया इस रेत को निकालकर ऊंचे ऊंचे टीले बना रहे हैं। सबसे बड़ी बात है कि इन माफियाओं के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

राजावत का कहना है कि लोग पीड़ियों से यहां रेत निकाल रहे हैं यहां रेत निकालना गलत नहीं है।

उन्होंने कहा कि इसका विरोध करना मानवता की हत्या करना है। नेताओं के इस तरह के बयान के बाद

रेत माफिया पूरी तरह से बेखौफ हो गए हैं। और धडल्ले से इस काम को अंजाम दिया जा रहा है।

रेत के ऊंचे-ऊंचे टीले बनाकर बारिष के बाद रेत माफिया अच्छे दामों पर इसे बेच देंगे।

उनके इस बयान के बाद अवैध खनन को समर्थन देने और घड़ियालों को मारने के उकसाने

वाले बयान पर राजावत फंस गए हैं। उनके ऊपर कानूनी कार्रवाई की मांग की गई है।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...