अब भागलपुर के झा परिवार के 7 लोगों ने की आत्महत्या

रांची। दिलदहलाने वाली ये घटना राजधानी के कांके थाना क्षेत्र के अरसंडी की है। यहां किराये के मकान में रहने वाले झा परिवार के 7 लोगों ने आत्महत्या कर ली। सोमवार सुबह जब कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो मकान मालिक ने अंदर झांककर देखा, इसके बाद उनकी रूह कांप गई। पुलिस शुरुआती जांच के बाद आर्थिक तंगी को आत्महत्या की वजह मान रही है।

सोमवार सुबह बच्चों को स्कूल ले जाने के लिए वैन आने के बाद कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो मकान मालिक अलक नारायण मिश्रा ने अंदर झांककर देखा। कमरे में दीपक झा, उनकी पत्नी सोनी देवी, भाई रूपेश झा, मां गायत्री देवी, पिता सच्चिदानंद, बेटा जंगू और बेटी दृष्टि की लाश दिखी। ये दृश्य देखकर मकान मालिक के होश उड़ गए। उन्होंने तुरंत पड़ोसियों को बुलाया और पुलिस को इसकी जानकारी दी गई।

घटना की जानकारी मिलती ही डीआईजी अमोल वेणुकान्त होमकर, एसएसपी अनीश गुप्ता, ग्रामीण एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग और कांके थाना प्रभारी सहित कई पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए। डॉग स्क्वॉड और एफएसएल की टीम को भी सूचना दी गई है। एफएसएल की टीम तमाम तथ्यों को खंगालने की कोशिश कर रही है। पुलिस के अनुसार प्रारंभिक तौर पर आत्महत्या का मामला ही लग रहा है। लोगों के मुताबिक दीपक झा की आर्थिक स्थिति सही नहीं थी और वे मकान का किराया भी नहीं दे पा रहे थे।

दीपक झा का परिवार बिहार के भागलपुर का रहने वाला था। अरसंडी में कोल्ड स्टोरेज के पास उनका परिवार अलक नारायण मिश्रा के घर में जनवरी में किराये पर रहने आया था। दीपक निजी कंपनी में काम करते थे। बताया जा रहा है कि दीपक अपने बेटे की बीमारी की वजह से भी परेशान था और इलाज के लिए उन्होंने कई लोगों से कर्ज ले रखा था।

 

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...