अमित शाह ने खत्म की उद्धव की नाराजगी, 2019 में होगा गठबंधन

नई दिल्ली। बुधवार रात बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह उद्धव ठाकरे से मिलने उनके घर मातोश्री पहुंचे और दोनों के बीच करीब सवा दो घंटे की बैठक हुई।

बैठक के दौरान उद्धव ने अमित शाह के सामने बीजेपी को लेकर अपनी और

अपनी पार्टी की तमाम नाराजगियों को रखा। अमित शाह ने उद्धव को उनकी सभी शिकायतें दूर करने का भरोसा दिया है।

इस भरोसे के बाद शिवसेना अब 2019 में गठबंधन पर बात करने को राजी हो गई है।
कल शाम करीब पौने आठ बजे अमित शाह जब मातोश्री पहुंचे तो
उद्धव ठाकरे ने पूरे परिवार के साथ उनका स्वागत किया।
दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे में वन टू वन बातचीत हुई।
सूत्रों के मुताबिक बातचीत के दौरान उद्धव ने पालघर उप-चुनाव के दौरान
बीजेपी नेताओं के आरोपों पर आपत्ति जताई। उद्धव ने महाराष्ट्र के
बीजेपी नेतृत्व पर अपनी नाराजगी अमित शाह के सामने जाहिर की।
इसके अलावा उद्धव ने कैबिनेट के विस्तार नहीं होने और

एनडीए की को-ऑर्डिनेशन कमेटी की बैठक नहीं होने का भी मुद्दा उठाया।

सूत्रों के मुताबिक सारी शिकायतें सुनने के बाद अमित शाह ने उद्धव को शिकायतें दूर करने का भरोसा दिलाया,

साथ ही शिवसेना को 2019 का लोकसभा चुनाव साथ लडऩे को भी कहा।

शिवसेना की नाराजगी

सवाल ये है कि आखिर अमित शाह को उद्धव ठाकरे से मुलाकात क्यों करनी पड़ी,

तो उसका जवाब है सबसे पुराने दोनों सहयोगियों के बीच बढ़ी तल्खी जो

पालघर उप-चुनाव के दौरान चरम पर पहुंच गई थी। उद्धव ने तो 2019 का

चुनाव अकेले लडऩे का ऐलान तक कर दिया था।

Read Also:
  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...