अमेरिका के ईरान पर प्रतिबंध से पेट्रोल-डीजल होगा और महंगा

नई दिल्ली। भारत में पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। इन दिनों अपने उच्चतम स्तर पर हैं, लेकिन यह मुश्किल आने वाले दिनों में कम होने की बजाए और बढ़ सकती है। इसकी वजह यह है कि कच्चे तेल की कीमतें अगले साल 100 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच सकती हैं। बैंक ऑफ अमेरिका कॉर्पोरेशन के मुताबिक वेनेजुएला और ईरान में सप्लाइ में कमी आने के चलते यह समस्या पैदा हो सकती है।
फिलहाल इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड ऑइल 77 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर चल रहा है। बैंक का कहना है कि 2019 की दूसरी तिमाही तक यह आंकड़ा 90 डॉलर प्रति बैरल तक हो सकता है। इसकी वजह वैश्विक स्तर पर उत्पादन में कमी की स्थिति है। बैंक के मुताबिक ओपेक देशों की ओर से उत्पादन को सीमित किया जा सकता है।ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट
अमेरिका की ओर से ईरान पर लगाए गए प्रतिबंधों के चलते भी कीमतों में इजाफा हो सकता है।
इसके चलते ईरान ने पहले से ही सप्लाइ की कमी से जूझ रहे क्रूड मार्केट को झटका देते हुए उत्पादन में कमी करने की चेतावनी दी है। ओपेक देशों के सप्लाइ कट के फैसले और वेनेजुएला में उत्पादन में अचानक कमी के चलते पहले ही कीमतों में तेजी का दौर जारी है। क्रूड ऑइल की कीमतें पहले ही तीन साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई हैं।

Read More:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here