अलग हुए 4 जीनियस फिल्मकार, बंद हुई अनुराग कश्यप-विक्रमादित्य मोटवानी की कंपनी फैंटम

0
44

बी-टाउन में रिश्ते महज निजी स्तर पर ही टूटते और बनते नहीं है बल्कि प्रोफेशनल फ्रंट पर भी आए दिन कोई नया रिश्ता कायम होता है तो कभी बरसों पुराना नाता एक झटके में टूट जाता है। कुछ ऐसा ही फैंटम प्रोडक्शन के साथ भी हुआ है। अब शायद ही आगे से कभी फिल्म शुरू होने से पहले चॉक की आवाज के साथ स्क्रीन पर बच्चे ‘फ’ से फैंटम चिल्लाते हुए सुनाई दें! दरअसल ये प्रोडक्शन हाउस अब मालिकों की राह जुदा होने के चलते अब बंद होने जा रहा है। इसकी घोषणा अनुराग कश्यप और विक्रमादित्य मोटवानी ने अपने-अपने सोशल मीडिया हैंडल के जरिए कर दी है।Image result for अनुराग कश्यप-विक्रमादित्य मोटवानी की कंपनी

मैं एक शराबी के साथ रिलेशनशिप में थी जिसने मुझे पीटा : पूजा भट्ट

फैंटम की स्थापना अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवानी, विकास बहल और मधु मंटेना ने तकरीबन 7 साल पहले की थी। इस बीच प्रोडक्शन हाउस ने कई यादगार फिल्में भी दी लेकिन अब इसके चारों पार्टनर ने कंपनी को बंद करने का सामूहिक फैसला लिया है। इस प्रोडक्शन हाउस के बैनर तले ही अनुराग कश्यप ने कल्ट कही जाने वाली ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ सीरीज बनाई तो विक्रमादित्य मोटवानी ने ‘लुटेरा’ और ‘ विकास बहल ने ‘क्वीन’ जैसी यादगार फिल्म का निर्माण किया। अब इन चारों फिल्मकारों ने अपने-अपने रास्ते अलग करने का फैसला कर लिया है। फैंटम के बंद होने से जहां इस प्रोडक्शन हाउस के बैनर तले बनने वाली फिल्मों के प्रशंसकों को झटका लगा है वहीं यह फैसला इन चारों पार्टनर के लिए भी मुश्किल ही रहा है।

तनुश्री मामले पर अन्नू कपूर बोले- ‘मुझे उनकी नीयत पर शक होता है’

विक्रमादित्य मोटवानी ने फैंटम के बंद होने की घोषणा करते हुए लिखा है- ‘विकास, मधु, अनुराग और मैंने फैंटम में अपनी पार्टनरशिप खत्म कर अपने-अपने रास्तों पर आगे बढ़ने का फैसला लिया है। अभी तक की यह पार्टनरशिप मेरी जिंदगी की काफी शानदार, महान और क्रेजी यात्रा की तरह रही है। ये मेरे तीन पार्टनर मेरी फैमिली की तरह रहे हैं जिन्होंने हर वक्त मेरा साथ दिया। मैं पिछले 7 सालों तक एक-दूसरे का सपोर्ट करने के लिए उनका जितना भी शुक्रिया अदा करूं वह कम होगा। उम्मीद करता हूं कि जब आगे अच्छा वक्त आएगा तब हमारे रास्ते जरूर एक-दूसरे से टकराएंगे।’Image result for अनुराग कश्यप-विक्रमादित्य मोटवानी की कंपनी

अनुराग कश्यप ने लिखा- ‘फैंटम एक सपना था एक बहुत सुंदर सपना और हर सपने का अंत होता ही है। हमने अपना बेस्ट दिया इसमें हम सफल भी हुए और असफल भी रहे। ..लेकिन मुझे यकीन है कि हम इससे मजबूती से उबरेंगे और अपने-अपने रास्तों पर बुद्धिमता से चलकर अपने सपने पूरे करेंगे। हम एक-दूसरे को शुभकामनाएं देते हैं।’

आईएलएंडएफएस पर काले धन को सफेद बनाने का संदेह, फिर से हुई डिफॉल्टर

फैंटम प्रोडक्शन के बंद होने की खबर न केवल इसके फैंस के लिए बुरी खबर है बल्कि छोटे फिल्मकारों को हौसला देने वाले इन चारों फिल्ममेकर्स के फॉलोवर्स के लिए भी बड़ा झटका देने वाली है। ​फैंटम ने न केवल सिनेमा में अपना योगदान दिया, बल्कि इन चारों फिल्मकारों के क्राफ्ट से कई दफा आॅडियंस को चमत्कृत भी किया है।

————————————————————————-

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...