‘आंखों में भले ही रोशनी न हो, पर आगे बढऩे का जज्बा किसी से कम नहीं’

0
41

जयपुर। दृष्टि दिव्यांगों की आंखों में भले ही रोशनी न हो, पर हौसलों की उड़ान और आगे बढऩे का जज्बा किसी से कम नहीं है। यदि इन्हें अवसर दिया जाए तो इनकी प्रतिभा को पंख लग सकते हैं। यह कहना है जनसंपर्क आयुक्त रवि जैन का। जैन शनिवार को लुई ब्रेल दृष्टिहीन विकास संस्थान द्वारा आयोजित दो दिवसीय अखिल भारतीय दृष्टिबाधित महिला संगीत प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे।

जनसंपर्क आयुक्त रवि जैन ने कहा कि जिनके हौसले बुलंद होते हैं, वही जीवन में बाजी मारते हैं। जैन ने जाने-माने दृष्टिबाधित संगीतज्ञ रविन्द्र जैन का उदाहरण देते हुए कहा कि वे ऐसी शख्सियत थे, जिन्होंने दुनिया में संगीत के क्षेत्र में विशेष पहचान बनाई थी।

सूचना आयुक्त ने समारोह की सफलता की शुभकामना देते हुए हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया। जनसंपर्क आयुक्त रवि जैन एवं अन्य अतिथियों ने इस अवसर पर दृष्टि सुर सरिता 2018 स्मारिका का विमोचन किया। समारोह के अध्यक्ष रील के प्रबंध निदेशक ए.के. जैन ने कहा कि दिव्यांगों ने अपनी प्रतिभा से हर क्षेत्र में अपनी योग्यता का प्रदर्शन किया है। यदि इन्हें अवसर दिए जाएं तो वे बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं। संस्थान अध्यक्ष पी.सी. जैन ने प्रतियोगिता की जानकारी देते हुए अतिथियों एवं देशभर से आई दृष्टिबाधित महिला प्रतिभागियों का स्वागत किया।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...