आकांक्षा का भारतीय वायुसेना में फ्लाइंग ऑफिसर के पद पर चयन

जयपुर. शेखावाटी की लाड़ली आकांक्षा दाधीच ने एक बार देश में राजस्थान का नाम रोशन किया है। आकांक्षा का भारतीय वायुसेना में फ्लाइंग ऑफिसर के पद पर चयन हुआ है।
74 सप्ताह के गहन एवं कठोर प्रशिक्षण के उपरांत शेखावाटी की बेटी आकांक्षा दाधीच 2 जून 2018 को इंडियन एयरफोर्स की मुख्य धारा में शामिल हो गयी।

2 जून को बैंगलोर में एयर फोर्स ट्रेनिंग कॉलेज में इनके बैच की पासिंग आउट परेड आयोजित की गई।

इस भव्य परेड और ट्रेनिंग के हर क्षेत्र में सर्वक्षेष्ठ प्रदर्शन करने पर आकांक्षा को वाइस प्रेसीडेंट सोर्ड ऑफ ऑनर सम्मान से सम्मानित किया गया।
बचपन से ही मेधावी छात्रा रही आकांक्षा की स्कूली शिक्षा
सीकर जिले में लक्ष्मणगढ़ तहसील के मोदी स्कूल से हुई। स्कूली शिक्षा से ही कल्पना चावला को अपना
आदर्श मानते हुए एरोस्पेस इंजीनियरिंग में UPES देहरादून से B.TEC की पढ़ाई पूरी की।
इसके बाद आकांक्षा का इंडियन एयरफोर्स में फ्लाइंग आॅफिसर के रूप में चयन हुआ।
आकांक्षा के दादा सांवरमल दायमा तोदी कॉलेज, लक्ष्मणगढ़ से सेवानिवृत्त व्याख्याता है।
पिता डॉक्टर देवेंद्र दाधीच एवं माता डॉ. गीता दाधीच सीकर जिले के श्री कल्याण चिकित्सालय,
सीकर में कार्यरत है एवं आकांक्षा के चाचा नरेन्द्र दायमा राजस्थान पुलिस में पुलिस इंस्पेक्टर है।
आकांक्षा की पासिंग परेड के दौरान उनके परिजन भी बैंगलोर में उपस्थित रहे। फ्लाइंग ऑफिसर बनी आकांक्षा को
मिले अवार्ड से शेखावाटी और उनके पैतृक गांव में खुशी का माहौल है।
Read Also:
  • 2
    Shares

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...