आज दो दिन की नेपाल यात्रा पर जाएंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दो दिनों के दौरे पर नेपाल जा रहे हैं. जहां वो जनकपुर में माता सीता के मंदिर में दर्शन करेंगे. माता सीता का घर जनकपुर में ही था इसलिए उन्हें जानकी भी कहा जाता है. नेपाल के जनकपुर में माता सीता का भव्य मंदिर है जहां पीएम मोदी आज पूजा अर्चना करेंगे.

पीएम मोदी पूजा अर्चना के बाद माता सीता के जनकपुर से भगवान राम की जन्मभूमि अयोध्या के बीच बस को हरी झंडी दिखाएंगे. इसके बाद पीएम मोदी का वहां अभिनंदन समारोह होगा. ये समारोह उस जगह पर होगा जहां मान्यता है कि माता सीता का स्वयंवर हुआ था. इसे बारह बीघा मैदान कहा जाता है.. उसी रंगशाला की भूमि को मिथिला संस्कृति के रंगों के साथ भारतीय प्रधानमंत्री के स्वागत के लिए सजाया गया है.

पीएम मोदी का भाषण, उपहार में मिलेगी खास चाबी
अभिनंदन समारोह के बाद पीएम मोदी लोगों को संबोधित भी करेंगे. पीएम मोदी रामायण सर्किट से जनकपुर को जोड़ने का ऐलान करेंगे. यहां मोदी को एक अभिनंदन पत्र भेंट किया जाएगा साथ ही उन्हें एक चाबी सौंपी जाएगी. चाबी एक प्रतीक है जो उनपर मधेस की जनका के विश्वास का संदेश देगी. एक परिवार के सदस्य को ही चाबी सौंपी जाती है और उसपर भरोसा होता है कि वो हर चीज का ध्यान रखेगा.

पहली बार जनकपुर से दौरे की शुरुआत
यह पहला मौका है जब भारत का कोई पीएम काठमांडू से नहीं बल्कि जनकपुर से अपने नेपाल दौरे की शुरुआत करेगा. पहाड़ और तेराई के तनाव भरे रिश्तों वाली नेपाली सियासत में जनकपुर को काठमांडू के बराबर तवज्जो देने वाले इस दौरे को भारतीय प्राथमिकताओं के मुखर वक्तव्य के तौर पर पढ़ा जा रहा है.

बस सेवा रोटी-बेटी वाले रिश्तों पर नई मुहर
निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक पीएम मोदी सुबह 10 बजे जनकपुर पहुंचने के बाद सीधे जानकीधाम मंदिर जाएंगे जहां माना जाता है कि कभी राजा जनक का महल था और देवी सीता का बचपन बीता. पूजा के बाद जानकी मंदिर के अहाते में ही दोनों पीएम अयोध्या और जनकपुर के बीच चलने वाली नई बस सेवा का शुभारंभ करेंगे. देवी सीता के मायके और ससुराल के बीच इस बस सेवा को भारत-नेपाल के रोटी-बेटी वाले रिश्तों की नई मुहर माना जा रहा है.

सीएम योगी आदित्यनाथ करेंगे बस की अगवानी

भारत और नेपाल के पीएम बस को रवाना करेंगे तो भारत में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ 12 मई को उनकी अगवानी करेंगे. बस की पहली अयोध्या यात्रा में करीब 30 यात्रियों का जत्था भारत पहुंचेगा.

कई अन्य परियोजनाओं को भी मिल सकती है रफ्तार
बस के अलावा और भी कई परियोजनाएं हैं जिन्हें पीएम मोदी की जनकपुर यात्रा से रफ्तार मिलने की उम्मीद है. इसमें जनकपुर में राम-जानकी विवाह हॉल, जानकी ऑडिटोरियम हॉल, तालाबों का संरक्षण, संस्कृत गुरुकुल की स्थापना, जानकीधाम मंदिर में सोलर लाइट प्रणाली, जनकपुर-धनुषाधाम को जोड़ने वाली सड़क का विस्तार, जनकपुर से बिहार के गिरिजास्थान को जोड़ने वाली सड़क का निर्माण आदि हैं.

काठमांडू में नेपाल से आधिकारिक स्तर की बातचीत

जनकपुर में दो घंटे से कुछ ज्यादा का वक्त बिताने के बाद प्रधानमंत्री काठमांडू रवाना होंगे जहां उनकी नेपाल सरकार के साथ आधिकारिक स्तर की बातचीत होगी. पीएम मोदी के इस दौरे में भारत के सहयोग से बन रही अरुण-3 जलविद्युत परियोजना का भी उद्घाटन होना है. पीएम मोदी ने 2014 की अपनी पहली नेपाल यात्रा में हिमालय के इस पड़ोसी देश को संपर्क और समृद्धि में भारत का साझेदार बनाने का वादा किया था.

महज एक महीना पहले नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली की भारत यात्रा के दौरान रक्सौल-काठमांडू रेल लिंक समेत कई महती संपर्क परियोजनाओं का ऐलान किया गया था. उम्मीद की जा रही है कि नेपाल सरकार के साथ अपने संवाद में पीएम मोदी अन्य संभावित परियोजनाओं की भी जमीन तैयार करेंगे.

पीएम मोदी पशुपतिनाथ मंदिर भी जाएंगे

पीएम नेपाल में अपनी यात्रा की शुरुआत जानकीधाम में पूजा से कर रहे हैं तो उनके दूसरे दिन का आरंभ भी तीर्थ दर्शन से ही होगा. वैष्णव मत के प्रसिद्ध तीर्थ मुक्तिधाम में पूजा के लिए मोदी धौलागिरी पर्वत क्षेत्र में जाएंगे जो बारह हजार फीट से ज्यादा की ऊंचाई पर है. इस तीर्थ का महत्व रामेश्वरम और बद्रीनाथ जैसा ही है और मान्यता है कि चार धाम दर्शन के बाद मुक्तिनाथ में दर्शन जरूर करना चाहिए. वहीं 12 मई की शाम भारत वापसी के पहले पीएम मोदी काठमांडू के पशुपतिनाथ मंदिर भी जाएंगे.

जनकपुर में पीएम मोदी का कार्यक्रम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here