आज वर्ल्ड योगा डे के साथ-साथ वर्ल्ड म्यूजिक डे भी मना रहे हैं ‘मशहूर सिंगर शान’

मुंबई: म्यूजिक डे के मौके पर मनोरंजन जगत से एक बड़ी खबर आ रही है। इस दिन जहां इंडस्ट्री म्यूजिक डे की सेलीब्रेशन में सराबोर है वहीं मशहूर सिंगर शान ने म्यूजिक इंडस्ट्री में अपने सफर को लेकर कई बड़े खुलासे किए हैं।

मीडिया से बात करते हुए शान ने बताया कि भारत में 80-90 का दशक म्यूजिक इंडस्ट्री में बड़े बदलाव का समय रहा था। उस समय फिल्मों के गीत में कई बदलाव देखे गए।

‘चांद सिफारिश’ गाने के सिंगर शान ने पिता का धन्यवाद करते हुए कहा- ‘मैं बहुत भाग्यशाली हूं

कि अपने पिता के कारण किशोर कुमार, लता मंगेशकर और आशा भोसले जैसी महान गायिका को मैं देख पाया

और कइयों के साथ मुझे काम करने का मौका भी मिला।

शान ने आगे कहा भारतीय म्यूजिक इंडस्ट्री तकनीकी रूप से कई मायनों में पीछे है।

इसके बावजुद भी कई सिंगर अपनी शानदार आवाज और गानों के लिए जाने जाते हैं।

उन्होंने आगे कहा- मैंने म्यूजिक इंडस्ट्री में रहते हुए कई भूमिका निभाई, लेकिन मैं एक सिंगर हूं,

हमेशा सिंगर रहूंगा यह बात हमेशा मेरे दिमाग में रही।’

आपको बता दें कि शान ने ‘तारे जमीन पर’, ‘सलाम नमस्ते’ और ‘3 इडियट’ जैसी फिल्मों को अपनी आवाज में कई शानदार गाने दिए हैं।

उन्हें अपनी सिंगिग के लिए कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं।

उन्होंने अपने कॅरियर की शुरुआत 17 साल की उम्र में की थी।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...