इमरजेंसी के पास शुरू होगा अलग से आउटडोर

0
27
DEMO PIC

महानगर संवाददाता  डेंगू-मलेरिया के बढ़ते हुए मरीजों को देखते हुए एसएमएस अस्पताल प्रशासन जुटा तैयारियों में

जयपुर। एसएमएस अस्पताल में डेंगू और मलेरिया सहित मौसमी बीमारियों के मरीजों की बढ़ती हुई संख्या को देखते हुए अस्पताल प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। गौरतलब है कि एसएमएस अस्पताल में डेंगू और मलेरिया के मरीजोंं की संख्या लगतार बढ़ती जा रही है। ऐसे में एसएमएस अस्पताल में व्यवस्थाएं गड़बड़ाएं ना इसके लिए अस्पताल प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। जानकारी के अनुसार इसके लिए अस्पताल प्रशासन अलग से आउटडोर के समय के बाद इसे संचालित करने की योजना बना रहा है। अस्पताल प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार बीते छह माह में एसएमएस अस्पताल में डेंगू और मलेरिया के 500 मरीज इलाज के लिए आ चुके हैं। इनमें से अकेले डेंगू के 450 मरीज हैं। अस्पताल प्रशासन के अनुसार बारिश के मौसम में अब अस्पताल में डेंगू और मलेरिया के मरीजों का रैला आ सकता है। ऐसी स्थिति में अस्पताल की व्यवस्थाएं प्रभावित हो सकती हैं। बीते कुछ दिन पहले ही एसएमएस अस्पताल प्रशासन ने मौसमी बीमारियों के सीजन में अस्पताल के आउटडोर में मौसमी बीमारियों को देखते हुए आउटडोर के समय के बाद भी आउटडोर संचालित करने की योजना बनाई थी। अब जल्दी ही अस्पताल की इमरजेंसी के पास दोपहर बाद अलग से आउटडोर संचालन की तैयारियां कर रहा है। अस्पताल प्रशासन की मानें तो आउटडोर इसी सप्ताह से शुरू कर दिया जाएगा ।
बुखार के मरीजों के लिए अलग से वार्ड
इन दिनों एसएमएस अस्पताल के मेडीसिन विभाग में बुखार के सबसे ज्यादा मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं। ऐसे में मरीजों के इलाज के लिए अलग से एक वार्ड शुरू करने की तैयारी भी अस्पताल प्रशासन कर रहा है। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि धनवंतरि आउटडोर में प्रतिदिन आठ से दस हजार मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं। इनमें सर्वाधिक मरीज मौसमी बीमारियों से पीडि़त हैं। मौसमी बीमारियों के इलाज के दौरान किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो इसके लिए अस्पताल प्रशासन तैयारियां कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...