इयर वैक्स हमारे कान की सुरक्षा करता है

0
85

कान के मैल (इयर वैक्स) को विज्ञान की भाषा में सेरुमेन कहते हैं। यह इयर कैनाल (बाह्य कान से मध्य कान के बीच का मार्ग) को बैक्टीरिया, फफूंद और पानी से बचाता है। इस लिए इयर वैक्स को बार-बार साफ नहीं करना चाहिए। इयर वैक्स खुद ही टुकड़ों में झड़कर बाहर आ जाता है। अकसर लोग इयर वैक्स को खराब समझकर कान साफ करने लगते हैं, लेकिन एेसा करना गलत है।

हमारे कान में छोटे-छोटे जो बाल होते हैं, वे भी इयर वैक्स को साफ करते हैं। कान के कैनाल में सेरुमिनस और नाइलोसीबेशियस नामक ग्रंथियां होती हैं जिनके स्राव से वैक्स बनता है। ये हमारे कान की सुरक्षा करता है।

इयर वैक्स की मात्रा हर व्यक्ति में अलग-अलग हो सकती है। अधिक मात्रा में वैक्स बनने से व्यक्ति के सुनने की क्षमता प्रभावित हो सकती है क्योंकि इससे कैनाल के ऊपर एक परत जम जाती है और कान तक कोई भी आवाज ठीक से पहुंच नहीं पाती है।

रीज के लक्षणों के आधार पर आयुर्वेद में जड़ी-बूटियों और काढ़े का किया जाता है प्रयोग

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...