ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीन का कैसे होगा उपयोग

0
35
demo pic

जयपुर।  प्रदेश में कल लोकतंत्र का उत्सव है. विधानसभा चुनाव-2018 के लिए निर्वाचन आयोग ने तैयारियां पूरी कर ली है. प्रदेश में इस बार पहली बार ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीन का भी उपयोग किया जाएगा.

इसके लिए इस बार निर्वाचन विभाग में बड़े स्तर पर तैयारियां की है. इनके उपयोग के लिए जगह-जगह प्रशिक्षण दिए गए हैं. ईवीएम और वीवीपैट किस तरह काम करती है देखिए.

इस बार सबसे उन्नत प्रणाली एम-3 ईवीएम का इस्तेमाल हो रहा है. इसमें वन टाइम प्रोग्रामिंग होती है. यानी इसे हैक करने की कोशिश की तो पूरी कार्यप्रणाली ठप पड़ जाएगी.

इसमें कंट्रोल यूनिट बटन दबाकर बैलट इश्यू किया जाता है. एक बार जब बैलेट यूनिट तैयार हो जाती है तो बटन दबाया जाता है और वोट रजिस्टर्ड हो जाता है.

वीवीपैट मशीन में डिस्पले में किसे वोट दिया वो दिख जाता है. दो मिनट में पर्ची मशीन से गिर जाती है. इसमें बीप की आवाज आती है. इसका मतलब यह है कि आपका वोट रजिस्टर्ड हो गया है. इस बार चुनाव में 1 वोट में औसतन 45 सैकेंड का समय लग सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...