उंगलियां चटकाने पर आवाज होने का गणितीय समीकरण निकाला

पेरिस।  उंगलिया चटकाने पर आवाज क्यों होती है? अमरीका और फ्रांस के शोधकर्ताओं का कहना है कि इसका कारण गणित के तीन समीकरणों की मदद से बताया जा सकता है। उनके मॉडल से ये साबित होता है कि ये आवाज हड्डियों के जोड़ में जो तरल पदार्थ होता है, उसमें बुलबुले फूटने की वजह से होती है  हैरानी की बात है कि इस प्रक्रिया पर एक पूरी सदी तक बहस होती रही। इस स्टडी को सांइटिफिक रिपोर्ट्स जरनल में प्रकाशित किया गया है जिससे पता चलता है कि बुलबुले फूटने से जो दबाव पैदा होता है उससे वेव पैदा होती है जिसे गणित के समीकरणों से समझा जा सकता है और मापा जा सकता है। इससे ये भी पता चलता है कि कुछ लोग अपनी उंगलियां क्यों नहीं चटका पाते हैं। अगर आपकी उंगलियों के टखनों की हड्डियों में ज्यादा जगह है तो दबाव उतना नहीं हो पाता कि आवाज पैदा करे। फ्रांंस में विज्ञान के छात्र विनीत चंद्रन सुजा क्लास में अपनी उंगलिया चटका रहे थे जब उन्हें इसके बारे में पता लगाने का ख्याल आया। उन्होंने अपने अध्यापक डॉ अब्दुल बरकत के साथ गणितीय समीकरणों की एक सिरीज तैयार की है।
दबाव और बुलबुले का खेल:
जब हम अपनी उंगलियां चटकाते हैं तो हम अपने जोड़ों को खींच रहे होते हैं। जब हम ऐसा करते हैं तो दबाव कम होता है। बुलबुले तरल के रूप में होते है जिसे साइनोवियल फ्लूड कहा जाता है। उंगलियां चटकाने की प्रक्रिया में जोड़ों का दबाव बदलता है और उससे बुलबुले भी तेजी से घटते-बढ़ते हैं और इसी से आवाज पैदा होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...