उत्तर प्रदेश और बिहार में लोकसभा-विधानसभा उपचुनावों की तारीख का हुआ एलान

0
158

उत्तर प्रदेश और बिहार में होने वाले लोकसभा अौर विधानसभा उपचुनावों को लेकर तारीख का एलान कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर, फूलपुर और बिहार के अररिया, भभुआ व जहानाबाद क्षेत्र में 11 मार्च को उपचुनाव होंगे और 14 मार्च को मतगणना होगी। गौरतलब है कि हाल ही में राजस्‍थान में हुए उपचुनावों में भाजपा को मिली हार के बाद पूरे देश की नजर इन महत्‍वपूर्ण राज्‍यों में होने वाले चुनावों पर टिकी है। इस नतीजे से उत्‍साहित कांग्रेस ने कहा था कि देश का मूड बदल रहा है। सियासी पार्टियां इन चुनावों को मिशन-2019 का सेमीफाइनल भी मान रही हैं।

उत्‍तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्‍यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे से खाली हुई लोकसभा सीटों पर उपचुनावों की तारीख का एलान हुआ है। गोरखपुर और फूलपुर की सीटें लंबे समय से खाली हैं। इन दोनों लोकसभा सीट पर उप चुनाव 22 मार्च तक चुनाव कराए जाने थे। राजस्‍थान में मिली हार के बाद भाजपा सतर्क हो गई है और उपचुनावों को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं। यह पार्टी के लिए एक तरह से नाक का सवाल बन गया है।

वहीं बिहार में भी लोकसभा की एक और विधानसभा की दो सीटों को लेकर आर-पार की लड़ाई देखने को मिलेगी। राजद सांसद तस्‍लीमुद्दीन के निधन के बाद अररिया लोकसभा सीट खाली हुई थी, जबकि जहानाबाद के राजद विधायक मुंद्रिका सिंह यादव और भभुआ के भाजपा विधायक आनंद भूषण पांडेय की मौत के बाद ये दोनों सीट रिक्‍त पड़ी थी। चुनावों के लिए 13 फरवरी से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। 20 फरवरी तक उम्मीदवार नामांकन भर सकते हैं। 23 फरवरी नाम वापस लेने की आखिरी तारीख है। पिछले चुनाव में तीनों सीटों में से दो पर राजद का और एक पर भाजपा का कब्‍जा था।

गौरतलब है कि जिस दिन मौजूदा केंद्र सरकार संसद में अपना अंतिम पूर्णकालिक बजट पेश कर रही थी, उसी दिन राजस्थान से भाजपा के लिए निराशाजनक खबर सामने आई थी। पार्टी को अलवर, अजमेर संसदीय उपचुनाव और मांडलगढ़ विधानसभा उपचुनावों में हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि इसके साथ ही पश्चिम बंगाल से राहत भरी खबर ये भी आई थी कि भाजपा दूसरे पायदान पर पहुंच गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...