उद्धव से मुलाकात करेंगे अमित शाह

मुंबई. महाराष्ट्र में बीजेपी शिवसेना के बीच बात बनती हुई नजर नहीं आ रही है।
शिवसेना ने बुधवार को कहा कि वे 2019 का चुनाव अकेले ही लड़ेंगे।

पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में कहा गया कि अमित शाह इन चुनावों में किसी भी तरह 350 सीटें जीतना चाहते हैं।

यह बयान ऐसे वक्त आया है जब आज शाम को अमित शाह उद्धव ठाकरे से मिलने के
लिए उनके घर मातोश्री जाएंगे। यह मुलाकात भाजपा की तरफ से रिश्तों को बेहतर बनाने के तौर पर देखी जा रही है।

बता दें कि शाह भाजपा के ‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान के तहत पार्टी मुंबई में लता मंगेशकर, रतन टाटा और माधुरी दीक्षित से मिलेंगे।

किसी भी हाल में चुनाव जीतना चाहती है बीजेपी
सामना की बुधवार की संपादकीय में शिवसेना ने लिखा है कि पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े हुए हैं,

किसान सड़क पर हैं, इसके बावजूद बीजेपी चुनाव जीतना चाहती है।

जिस तरह बीजेपी ने साम, दाम, दंड, भेद के जरिए पालघर का
चुनाव जीता उसी तरह बीजेपी किसानों की हड़ताल को खत्म करना चाहती है।

चुनाव जीतने की शाह की जिद को हम सलाम करते हैं।

शिवसेना का कहना है कि अगर बीजेपी राम मंदिर बनाती है तो 350 सीटें जीत सकती है।

2014 में क्या स्थिति थी
महाराष्ट्र में लोकसभा की 48 सीटें हैं। 2014 में इनमें से भाजपा को 23 और शिवसेना को 18 सीटें मिली थीं।

राकांपा को 4, कांग्रेस को 2 और अन्य के खाते में एक सीट गई थी।

शरद पवार ने कहा था- फिलहाल देश में 1977 जैसे हालात

राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने कहा मंगलवार को कहा था, “देश में 1977 जैसे हालात है,
जब विपक्षी दलों के गठबंधन ने इंदिरा गांधी को सत्ता से बेदखल कर दिया था।
पहले भी ऐसा होता रहा है,
उपचुनावों में मिली हार का नतीजा उस समय की मौजूदा सरकार की हार के रूप में निकला।”
-उन्होंने कहा कि राज्यों में मजबूत मौजूदगी रखने वाले दलों जैसे कि केरल में लेफ्ट, कर्नाटक में जेडीएस, गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, पंजाब, राजस्थान और
महाराष्ट्र में कांग्रेस, आंध्र प्रदेश में टीडीपी, तेलंगाना में टीआरएस, पश्चिम बंगाल में टीएमसी और महाराष्ट्र में एनसीपी को एक आम सहमति बनाने की जरूरत है।”
उन्होंने शिवसेना को साथ आने का ऑफर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...