एसएससी पेपर लीक पर 12 मार्च को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

0
116

नई दिल्ली। स्टाफ सलेक्शन कमेटी (एसएससी) पेपर लीक मामले में प्रदर्शन कर रहे छात्रों के साथ जब अन्ना हजारे शामिल हो गए तो आखिर उनींदी सरकार जाग गई। केन्द्रीय गृहमंत्रालय ने इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मंजूरी दे दी है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हमने सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं, इसलिए छात्रों को प्रदर्शन बंद कर देना चाहिए। उधर, यह मामला देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट में भी पहुंच गया है। इस घोटाले की जांच कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है, जिस पर 12 मार्च को सुनवाई होगी।
सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई इस याचिका पर चीफ जस्टिस ने कहा कि अगले सोमवार यानी 12 मार्च को मामले पर सुनवाई होगी। वकील मनोहरलाल शर्मा ने याचिका में अपील की है कि इस पेपर लीक के पीछे साजिश की जांच सुप्रीम कोर्ट अपनी निगरानी में एसआईटी या सीबीआई से कराए।
शर्मा ने कोर्ट से ये भी कहा है कि सरकार को निर्देश दिए जाएं कि आगे से कभी पेपर लीक न हो इसके लिए ऐसा सिस्टम बनाया जाए, जिसमें किसी भी तरह से सेंध लगाना नामुमकिन हो। क्योंकि तमाम महत्वपूर्ण प्रतियोगी परीक्षाओं के पेपर आए दिन लीक हो जाते हैं और प्रतिभावान छात्रों का समय और मेहनत बर्बाद हो जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...