कर्नाटक के चुनावके परिणामों का MP की सियासत पर क्या होगा असर ?

कर्नाटक के विधानसभा चुनाव कई मायने में इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं, क्यों कि एक के बाद एक बीजेपी ने कई राज्यों में कांग्रेस को सत्ता से बेदखल करते हुए ये कामयाबी हासिल की है। कर्नाटक के चुनाव परिणामों का साल के अंत तक होने वाले मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव पर भले ही बहुत असर ना बड़े लेकिन कांग्रेस के लिए पिछले 15 साल से प्रदेश की सत्ता पर काबिज भाजपा को घेरना अब इतना आसान नहीं रह गया।
अगले कुछ ही महीनों में मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनावों का शंखनाद होने वाला है ऐसे में कर्नाटक के चुनाव परिणाम मध्यप्रदेश बीजेपी के लिए ये जीत किसी संजीवनी बूटी के कम नहीं हैं, वो भी तब जब बीजेपी को प्रदेश के उपचुनावों में पार्टी को हार का सामना करना पड़ा है। कल तक जो बीजेपी नेता बैकफुट पर नज़र आ रहे थे, इस जीत ने उनमें भी उर्जा का संचार कर दिया है।
मध्यप्रदेश सरकार के जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए जहां बांटने की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए मध्यप्रदेश में भी जीत का दावा किया है तो वही सीएम शिवराज ने कर्नाटक विधानसभा के चुनाव परिणामों पर तंज कसते हुए कांग्रेस को अपना नाम बदलने की नसीहत दी है। उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस को कांग्रेस-INC की जगह कांग्रेस PMP नाम रख लेना चाहिए। गौरतलब है कि कांग्रेस अब महज तीन राज्यों में (पंजाब मिजोरम पुद्दुचेरी कांग्रेस) सिमट कर रह गई हैं। वहीं कैलाश विजयवर्गीय ने भी इस जीत से उत्साहित होकर कांग्रेस पर हमला बोला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here