कारोबार संभालने के लिए इंग्लैण्ड बुलाने का झांसा देकर 58 लाख की ऑनलाइन ठगी

0
47

जयपुर। राजधानी में ऑनलाइन व सोशल मीडिया के जरिए बढ़ती ठगी की वारदातों को लेकर जयपुर पुलिस कमिश्नरेट को बड़ी सफलता मिली है। क्राइम ब्रांच ने कार्रवाई करते हुए ठगी के दो मामलों में नाईजीरियन गैंग का पर्दाफाश कर एक महिला समेत 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है और उनके पास से 20 लाख रुपए का सोना-चांदी, पौने तीन लाख रुपए की नकदी समेत अन्य सामान बरामद किए गए हैं।

दिल्ली और बैंगलोर से गिरफ्तार आरोपित ऑर्थर ओकेके (33), डेनिस इना इकेने (31), चुकवुनोसो जिम न्यूगबो (34) व सीके पुनाई (29) है। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त नितिनदीप ब्लग्न ने बताया कि डेनिस ईना, अर्थुर ओकेई ने फेसबुक मैसेंजर और वॉट्सअप के जरिए मानसरोवर निवासी विमल कुमार जैन को इंग्लैंड में बड़़े निवेश का झांसा दिया था। इन लोगों ने खुद को इंग्लैण्ड का बड़ा उद्यमी बताते हुए खुद का तेल और गैस का कारोबार बताया और इंग्लैण्ड आने का ऑफर दिया था।

इसके बाद इन आरोपियों ने पीडि़त विमल कुमार जैन को कंपनी का आमंत्रण पत्र भेजा और विभिन्न सर्टिफिकेट के लिए विभिन्न बैंक खातों में कुल 58 लाख 4 हजार रुपए की धोखाधड़ी की। पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद तकनीकी विश्लेषण और विभिन्न बैंक एकाउंट्स का रिकॉड्र्स हासिल करके आरोपियों को चिह्नित कर लिया। इसके बाद क्राइम ब्रांच की टीम दिल्ली ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने दोनों आरोपियों के कब्जे से करीब 20 लाख रुपए की ज्वैलरी, कीमती घडिय़ां, नकदी और मोबाइल फोन भी बरामद किए हैं।

इस पूरी कार्रवाई में एसआई मनोज कुमार, कांस्टेबल अभिमन्यु सिंह, रविन्द्रपाल सिंह, कोमलसिंह की महत्वपूर्ण भूमिका रही। वहीं सांगानेर थाना इलाके में भी पीडि़त शशांक पाठक से हुई ऑनलाइन ठगी की वारदात में नाइजीरिया निवासी चुकुनोसो जिम और मणिपुर निवासी महिला सीके पुनई को गिरफ्तार किया है। पुलिस गिरफ्त में आए इन आरोपियों ने ऑनलाइन ठगी करते हुए पीडि़त के बैंक अकाउंट से 14 लाख रुपए का ऑलाइन ट्रांजेक्शन कर लिए थे।

तकनीकी आधार पर जानकारी जुटाते हुए पुलिस टीम ने दोनों आरोपियों को बैंगलोर से दबोच लिया । पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से मोबाइल फोन,लैपटॉप के साथ ही फर्जी पैन कार्ड व डेबिट कार्ड भी बरामद किए हैं। पुलिस की मानें तो सोशल मीडिया या अन्य ऑनलाइन माध्यमों से ये नाइजीरियन ठग लोगों को पैसे का लालच देकर अपना शिकार बनाते हंै। ऑनलाइन ठगी की वारदातों को लेकर जयपुर पुलिस को यह बड़ी सफलता हाथ लगी है । माना जा रहा है कि आरोपियों से पूछताछ के बाद राजधानी में एटीएम, डेबिट कार्ड क्लोनिंग समेत ठगी के अन्य मामलों का भी खुलासा हो सकता है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...