कैलिफोर्निया में आग के तूफान का कोहराम…छह मौत

कैलिफोर्निया। कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी लाग बहुत घातक हो रही है। अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि हजारों फायरफाइटर्स इनसे जूझ रहे हैं। अग्निशमन अधिकारियों ने कहा कि अनियमित हवा के रुख और शुष्क वातावरण के चलते आग की लपटें प्रचण्ड हो रही हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में हुई आग की आठ घटनाओं में से यह प्रमुख है।

उत्तरी कैलिफोर्निया के शास्ता काउण्टी में लगी आग से अब तक छह लोगों की मौत हो चुकी है।

इनमें दो बच्चे ओर उनकी दादी भी शामिल है।

ये बच्चे रेडिंग शहर स्थित अपने घर को खाली कर रहे थे।

इसी दौरान आग ने इनको भी अपने आगोश में ले लिया।

पहले से तेज हुईं लपटें

इससे पहले दो अग्निशमन कर्मचारियों की भी मौत हो चुकी है।

रविवार को योसामेंट के पास आग को बुझाने की कोशिश कर रहे एक अन्य अग्निशमन कर्मचारी की भी मौत हो गई।

आग की लपटें पहले से दोगुनी हो गई हैं।

रविवार सुबह आग करीब 48,000 एकड़ में फैल गई थी और यह 500 इमारतों को ध्वस्त कर चुकी है।

इस आग ने सोमवार को और भी उग्र रूप धारण कर लिया।

आग बन गई तूफान

सैक्रामैटो नामक नदी को पार कर आग का तूफान बन गया।

कैलिफोर्निया वानिकी और अग्नि सुरक्षा विभाग के प्रमुख केन पिमलॉट ने कहा कि वे आग की लपटें देख रहे हैं।

इसे आग का बवण्डर कहें तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी।

38,000 लोगों को काउण्टी से निकाला

आग के चलते करीब 38,000 लोगों को शास्ता काउण्टी से अब तक निकाला जा चुका है।

कैलिफोर्निया के गवर्नर जेरी ब्राउन ने इस क्षेत्र में आपातकाल की स्थिति घोषित की हुई है।

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शास्ता काउण्टी के लिए केन्द्रीय सहायता को मंजूरी दे दी है।

90 देशों में लगी आग से यह सबसे बड़ी

केन्द्रीय अग्नि सुरक्षा विभाग का कहना है कि कैलीफोर्निया में अब तक आठ बड़ी आग की घटनाएं हुईं हैं।

इनमें ये यह आग की घटना देशभर में अब तक की सबसे बड़ी है।

वहीं 90 देशों में भी यह अभी तक की सबसे बड़ी आग की घटना है।

वर्तमान में करीब 12,000 अग्निशमन कर्मचारी राज्यभर में तैनात हैं।

वनस्पति बनी खतरनाक विस्फोटक

विशेषज्ञों का कहना है कि पिछले 10 वर्षों में इस साल की शुरुआत आग लगने की घटना से काफी खराब रही।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2012 से 2017 तक पड़े अकाल के चलते काफी मात्रा में वनस्पति नष्ट हुई थी।

अब इस आग ने वनस्पति को बड़ी तादाद में नुकसान पहुंचाया है।

यूसीएलए के जलवायु वैज्ञानिक डेनियल स्वैन ने संवाददाताओं को बताया कि

राज्य की अधिकांश वनस्पतियां ‘सूखे विस्फोटक’ के खतरनाक स्तर तक पहुंच गई हैं।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...