कोटा शहर हुआ बंद, बिजली की फ्रेंचाइजी कंपनी की मनमानी को लेकर

0
37
DEMO PIC

कोटा । आज कोटा बंद है, पूरी तरह से बंद। इस बंद को शहर के हर वर्ग का समर्थन मिला है। चाहे स्कूल हो, चाहे दुकानें और चाहे ऑटो सभी ने एक सुर में बंद का समर्थन किया है। खास बात यह है कि इस बंद के पीछे किसी राजनीतिक दल का विरोध या महंगाई का मुद्दा नहीं है। ये बंद है बिजली की फ्रेंचाइजी कंपनी की मनमानी को लेकर। मनमानी का आरोप भी ऐसी कि यहां की जनता ने नारा ही दे दिया है कि ‘केईडीएल भगाओ,कोटा बचाओ’।

किसी प्रशासनिक कारण से पूरा शहर बंद होने का यह शायद अपने आप में ही एक उदाहरण है। आमजन के स्तर पर किए गए इस बंद के निर्णय का असर जिस तरह से शहर में देखने को मिल रहा है, उसने सभी को आश्चर्य में डाल दिया है। साथ ही यह भी पता चल जाता है कि प्रशासनिक खामी और लापरवाही किस कदर बढ़ चुकी है कि शहर की जनता ने एकजुट होकर मोर्चा ही खोल दिया है। साथ ही कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं। जिनमें प्रमुख सवाल यह है कि एक फ्रेंचाइजी कंपनी के खिलाफ पल रहे लोगों के आक्रोश को प्रशासनिक आलाधिकारी क्या पहचान ही नहीं पाए।

या फिर सबकुछ जानकर प्रशासनिक जिम्मेदारों की आंखे मुंदी रही। शहर में आज का बंद ये साफ बता रहा है कि आक्रोश पुराना है, जो आज फूट पड़ा है। आपको बता दें कि जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड की फ्रेंचाइजी कंपनी कोटा इलेक्ट्रिसिटी डिस्ट्रीब्यूशन लिमिटेड पर मनमानी करने का आरोप है। स्थानीय लोगों का कहना है कि इस फ्रेंचाइजी कंपनी की ओर से लगाए गए स्मार्ट मीटर के बाद बिजली के बिल अचानक बढ़ गए। शहर में एक आह्वान पर 600 से ज्यादा निजी स्कूलों ने बंद कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...