गगनयान अभियान को स्वदेशी बनाने की योजना : ISRO

0
24
ISRO (इसरो) के पृथ्वी अवलोकन उपग्रह हाइसिस (हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग सैटेलाइट) और 30 अन्य उपग्रहों को सफलतापूर्वक लॉन्च करने के बाद सिवन ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष एजेंसी को कुछ परीक्षणों के लिए बाहरी मदद लेनी पड़ सकती है।
उन्होंने कहा, ‘हम भारत में उपलब्ध अधिकतम सुविधाओं का इस्तेमाल करना चाहते हैं और हम इसे अधिक से अधिक स्वदेशी बनाना चाहते हैं।’

इसरो प्रमुख ने आगे कहा, ‘2022 तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अंतरिक्ष में मानव को भेजने की परिकल्पना को साकार करने के लिए कुछ परीक्षण के लिए हम विदेश जा सकते हैं. लेकिन अभी हमने यह तय नहीं किया है।’

अंतरिक्ष एजेंसी दिसंबर 2020 तक गगनयान परियोजना के तहत पहला मानव रहित कार्यक्रम शुरू करने का लक्ष्य रखा है. अगर गगनयान सफल होता है, तो भारत इस उपलब्धि को हासिल करने वाला चौथा राष्ट्र बन जाएगा।

इसरो की भविष्य की योजना के बारे में सिवन ने कहा, ‘अगले वर्ष के लिए, हमारे पास 12-14 अभियान की योजना है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...