गहलोत सरकार का पहला विधानसभा सत्र 15 से

0
56
विधानसभा सत्र में 15 और16 जनवरी को नवनिर्वाचित विधायकों को प्रोटेम स्पीकर गुलाब चंद कटारिया और उनके सहयोगी बनाए गए तीन वरिष्ठ विधायकों द्वारा विधायकी की शपथ दिलाई जाएगी. 17 जनवरी को विधानसभा में राज्यपाल कल्याण सिंह का अभिभाषण होगा और उसके बाद सदन के औपचारिक कामकाज की शुरुआत भी होगी. इस दिन पूर्व में दिवंगत हुए राजनेता और विशिष्ट व्यक्तियों के लिए शोकाभिव्यक्ति की जाएगी।
 
इसके अगले दिन यानि 18 जनवरी से सदन में राज्यपाल के अभिभाषण पर वाद विवाद शुरू होगा जो 23 जनवरी तक जारी रहेगा. 23 जनवरी को ही राज्यपाल के अभिभाषण पर सरकार की ओर से सदन में जवाब पेश किया जाएगा. हालांकि इस बीच 19 और 20 जनवरी को सदन की कार्यवाही स्थगित रहेगी. वहीं सदन में आगे का कामकाज क्या रहेगा,यह कार्य सलाहकार समिति की बैठक में तय होगा।
 

[विधानसभा कर्मचारियों का अवकाश निरस्त, कक्ष का अस्थाई आवंटन]
नई सरकार का पहला विधानसभा सत्र इस बार शॉर्ट नोटिस में बुलाया गया है. लिहाजा उसकी तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए विधानसभा प्रशासन ने अपने सभी कर्मचारियों के सरकारी अवकाश निरस्त कर दिए हैं. अब रविवार और उसके बाद सोमवार को मकर सक्रांति के अवकाश के दिन भी विधानसभा कर्मचारी सत्र को लेकर होने वाले कामकाज की तैयारियों को अंतिम रूप देंगे. वहीं मौजूदा सरकार के मंत्री विधानसभा में किन कमरों में बैठेंगे इसके लिए फिलहाल विधानसभा में उप मुख्यमंत्री और मंत्री के लिए अस्थाई कक्षों का आवंटन कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...