गुफा में फंसे बच्चों ने परिजनों को लिखे संदेश, पढ़कर रो देंगे आप

चियांग राय। थाईलैंड की एक गुफा में फंसे बच्चों ने अपने-अपने परिजनों का ढाढस बंधाया है। उन्होंने कागज के टुकड़ों पर अपने संदेश लिखे। इसे पढ़कर आपका ह्रदय पिघल जाएगा। जैसे ही उनकी लिखावट लोगों के सामने आई, सबकी आंखें नम हो गईं।

ये बच्चे फुटबॉल खिलाड़ी हैं। इनको निकालने की कवायद जारी है। लेकिन मौसम खराब होने की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन में देरी हो रही है। कुछ लोगों का आकलन है कि इसमें महीनों समय लगा सकता है। बच्चों ने ये भी कहा था कि इतने दिनों तक वे अंदर नहीं रह सकते हैं।

इन खतों में जो भी बातें लिखी गई हैं, उनसे किसी की भी आंखें भर जाएंगी। इन छात्रों के लिखे गये पत्रों को थाई नेवी सील फेसबुक पेज पर पोस्ट किया गया है।

पढ़ें: गुफा में फंसे बच्चे, 4 महीने से पहले नहीं निकल पाएंगे

गुफा में फंसे छात्रों के जो पत्र मिले हैं, उनमें से एक ने लिखा है कि, ‘मेरे प्यारे माता-पिता, कृपया मेरे बारे में चिंता न करें। मैं यहां ठीक हूं। जब मैं बाहर आ जाऊंगा, तो मुझे फ्राइड चिकन खिलाने के लिये ले चलना। मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं।’एक छात्र ने लिखा है, ‘मॉम- डैड मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं और मैं पोर्क शबू खाना चाहता हूं।’

एक अन्य पत्र में लिखा है, ‘मुझे मेरी मां और पिता से बहुत प्यार है। मेरे बारे में चिंता मत करो। अब मैं सुरक्षित हूं।’

वहीं एक अन्य पत्र में लिखा है, ‘मैं यहां ठीक हूं। यहां ठंड थोड़ी ज्यादा है, लेकिन आप चिंता मत करना। मुझे आप सबकी बहुत याद आती है। मैं जल्दी घर आना चाहता हूं।’

गौरतलब है कि, थाईलैंड की अंडर 16 फुटबॉल टीम के 12 बच्चे और उनके 25 वर्षीय कोच 23 जून से लापता थे। बाद में पता चला कि उन्होंने भारी बारिश की वजह से गुफा में शरण ली थी और बारिश की वजह से गुफा का प्रवेश द्वारा अवरुद्ध हो गया।

प्रशासन की ओर से बचाव कार्य किये जा रहे हैं, लेकिन खबर है कि मौसम ने साथ नहीं दिया, तो इन्हें बाहर निकालने में चार महीने तक का समय लग सकता है। इस बीच बच्चों के ऊपर क्या बितेगी, कहना मुश्किल है। स्थानीय प्रशासन ने बच्चों से लगातार बात करते रहने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...