गुर्जर आंदोलन को लेकर कई इलाकों में इंटरनेट सेवा पर रोक

जयपुर। जानकारी के मुताबिक राज्य सरकार द्वारा दिए गए प्रस्ताव में 9बिंदु हैं। इसमें से कई मांगों पर सरकार सहमत है लेकिन कुछ प्रस्ताव ऐसे हैं, जो गुर्जर नेताओं को मंजूर नहीं। गुर्जर नेताओं के मुताबिक सरकार के प्रस्ताव को महापंचायत में सुनाया जाएगा। इसके बाद वहीं सभी मिलकर आगे का रुख तय करेंगे। इसके साथ ही गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला मंगलवार को सरकार से बातचीत के लिए जयपुर जाएंगे।

महापंचायत के दौरान हिंसा से निपटने के लिए प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम कर लिए हैं। प्रशासन की ओर से भरतपुर जिले में धारा 144लागू कर बयाना, उच्चैन, रुदावल समेत कई इलाकों में इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी गई है।

वहीं एहतियातन बयाना से आगे करौली और हिंडौन मार्ग पर मंगलवार को बसों का संचालन बंद कर दिया गया है। पिछले आंदोलन के दौरान रेलवे को हुए नुकसान को देखते हुए रेल पटरियों पर भारी संख्या में पैरामिलिट्री फोर्स की तैनाती की गई है।

मामले में मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि सभी मुद्दों पर गुर्जर नेताओं के साथ राय बनी है। वार्ता पूरी तरह से सफल रही। मंगलवार को सरकार और गुर्जर नेताओं के बीच लिखित समझौता होगा।

गुर्जर नेताओं का कहना है कि अभी कोई अंतिम निर्णय नहीं हुआ है। मंगलवार को अड्डा में होने वाली पंचायत में सरकार के प्रस्ताव को पढ़कर सुनाया जाएगा। इसके बाद ही आगे की रणनीति पर फैसला होगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here