चारागाह की जमीन पर खुलेंगे स्कूल, गौशाला और अस्पताल

जयपुर। सरकार चारागाह की जमीन पर गौशाला, स्कूल और अस्पताल बनाने के लिए नीति बना रही है।

चारागाह की जमीनों को इस्तेमाल करने के लिए सरकार की ओर से बार-बार नियमों में बदलाव किया जा रहा है।

इससे पहले सरकार ने चारागाह की जमीन पर माइंस के लिए छूट दी थी।

इसके लिए राजस्व विभाग की ओर से नियम में संशोधन के लिए नया ड्राफ्ट तैयार किया गया है।

नियम यह था कि जिस पंचायत में चारागाह की जमीन के बदले दूसरी न मिलने पर

उसी जिले के दूसरी पंचायत में सेटअपार्ट किया जा सकेगा। अब सरकार गौशाला, स्कूल,

अस्पताल आदि खोलने के नाम पर चारागाह की जमीनों का आवंटन कर सकती है।

नियमों में बदलाव के लिए राजस्व विभाग ने फाइल चला दी है। विभागीय अधिकारियों का कहना है

कि गौशाला के लिए जमीन आवंटन कराने के लिए प्रदेश भर से आवेदन आए है।

इसको देखते हुए सरकार की ओर से नियम में बदलाव करने का फैसला किया गया है।

हालांकि चारागाह की जमीन पर किसी भी प्रकार की गतिविधि का प्रावधान नियम में नहीं हैं।

वहीं सरकार ने मांइस कि छूट में बदलाव किया था कि माइंस के लिए जितनी जगह ली जाएगी उतनी ही

जगह पर माइंस मालिक खरीदकर चारागाह विकसित करेगा। चारागाह की जमीन का कहां पर

इस्तेमाल किया जा सकता और कहां नहीं, इसको लेकर एक गाइड लाइन तैयार की जा रही है।

Read Also:
  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...