चुनावी ड्यटी से बचने को एक साथ दर्जनों कर्मचारी बीमार

0
111
employees-are-ill

जयपुर। लोकसभा उपचुनाव में ड्यूटी लगते ही एक साथ बड़ी संख्या में सरकारी कर्मचारी मौसमी बीमारियों की चपेट में आ गए हैं। कई नजदीकी रिश्तेदार की शादी का हवाला देकर तो कई घर-परिवार की जरूरी जिम्मेदारी और सामाजिक सरोकार के मद्देनज ड्यूटी निरस्त करवाने के प्रार्थना पत्र दे रहे हैं।

अजमेर लोकसभा क्षेत्र में आने के कारण जयपुर के दूदू क्षेत्र में भी चुनाव होने जा रहे हैं। ऐसे में यहां जिन कार्मिकों की ड्यूटी लगाई गई है उनमें से बड़ी संख्या में कार्मिक ड्यूटी निरस्त करवाने की जुगत में जुट गए हैं।

निर्वाचन से संबंधित शाखा में अभी तक दर्जनों प्रार्थना पत्र ड्यूटी निरस्त करवाने के मिल चुके हैं और अभी भी आवेदन आने का सिलसिला लगातार जारी है। कलेक्ट्रेट में मिले ड्यूटी निरस्त के आवेदन पत्रों में से करीब आधे आवेदन पत्रों में कर्मचारी स्वयं के और माता, पिता या पत्नी और अन्य करीबी रिश्तेदारी के बीमार होने का तर्क दिया गया है।

इसके अलावा शेष आवेदन पत्र में शादी-ब्याह और पारिवारिक कार्यक्रमों का हवाला देते हुए ड्यूटी से मुक्त रखने की प्रार्थना की गई है। प्रशासनिक स्तर पर फिलहाल इन कार्मिकों की ड्यूटी को निरस्त करने को लेकर अभी तक तो कवायद शुरू नहीं की गई है। लेकिन ड्यूटी पर लगाए जाने वालों के अलावा आरक्षित कर्मचारियों के भी इंतजाम किए जाने के संकेत दिए जा रहे हैं ताकि विकल्प के तौर पर बीमार अन्य कारणों से ड्यूटी में नहीं आ पाने की स्थिति में एवजी कर्मचारी लगाए जा सकें।

पिछले चुनावों में की गई थी कर्मचारियों के स्वास्थ्य की जांच
चार साल पहले हुए विधानसभा चुनाव के दौरान बीमारी का बहाना बनाकर ड्यूटी कैंसिल करवाने के लिए बड़ी संख्या में आने वाले आवेदनों को देखते हुए प्रशासन की ओर से बाकायदा कलेक्ट्रेट में स्वास्थ्य जांच की व्यवस्था की गई थी। इस दौरान कलेक्ट्रेट में चिकित्सकीय दल तैनात किया गया था। इसमें शामिल चिकित्सक को आवेदक कर्मचारियों के स्वास्थ्य की जांच गहनता से करने के बाद ही चुनाव तिथि तक इनकी तबीयत में सुधार की उम्मीद नजर आने की स्थिति में ही ड्यूटी निरस्त करने की अनुशंषा करने की जिम्मेदारी दी गई थी। ड्यूटी कैंसिल करवाने के ज्यादा आवेदन आने की स्थिति में अबकी बार भी इस तरह की व्यवस्था की जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...