चेहरे के सवाल पर अशोक गहलोत का जवाब, चेहरा दस साल सामने रहा है

जयपुर। विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर चल रही बयानबाजी के बीच शनिवार को उदयपुर में कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन महासचिव एवं पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ा बयान दिया. मुख्यमंत्री के चेहरे के सवाल पर गहलोत ने कहा कि “जब चेहरा दस साल सामने रहा है तो अब किस रूप में चेहरे को सामने लाया जाये”.

गहलोत के इस बयान के बाद पार्टी में इसके अलग-अलग मायने लगाए जा रहे हैं. उदयपुर में सर्किट हाउस में मीडिया से बातचीत करते हुए गहलोत ने अपने पुराने बयान को भी दोहराया कि “मैं थां स्यू दूर नहीं हूं”. गहलोत ने कहा कि उनके कामकाज के दौरान दूसरे राज्यों में जाने पर कई तरह की बातें सामने आती है. उन्होंने साफ किया कि वे ताउम्र राजस्थान की सेवा करते रहेंगे. गहलोत को आमजन का पंसदीदा सीएम बताए जाने पर उन्होंने कहा कि “खनक की आवाज खुदा की आवाज होती है”.

कटारिया पावरलैस गृहमंत्री
इस दौरान गहलोत ने गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया पर भी कटाक्ष करते हुए उन्हें पावरलैस गृहमंत्री बताया. गहलोत ने कहा कि कटारिया को खुद मुख्यमंत्री के पास जाकर अपना पद छोड़ देना चाहिये, लेकिन वे पावरलैस होकर भी पद पर बने रहना चाहते हैं. गहलोत ने कहा कि उदयपुर भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा अड्डा बनता जा रहा है और कटारिया नालियों और शौचालयों के फीते काटने में व्यस्त हैं.

पहले भी हुए हैं वार पलटवार
उल्लेखनीय है कि हाल ही में राजधानी जयपुर में आयोजित कांग्रेस की कार्यशाला में भी मुख्यमंत्री पद को लेकर गहलोत और पीसीसी चीफ सचिन पायलट के बीच शब्दों के काफी वार पलटवार हुए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...