छोटे बैंकों में हो रहा अधिक ब्याज का लाभ

मुंबई। नए स्मॉल फाइनैंस बैंक एक से तीन साल के डिपॉजिट पर 8.5-8.75 प्रतिशत तक का रिटर्न ऑफर कर रहे हैं। हालांकि, अपनी रकम की सुरक्षा को अधिक महत्व देनेवाले डिपॉजिटर्स कम पहचान रखनेवाले इन बैंकों के पास अपनी बचत रखने को लेकर कुछ आशंकित हो सकते हैं। इंडिया (एसबीआई) सेविंग डिपॉजिट पर 1 करोड़ रुपए तक के बैलेंस पर 3.5 प्रतिशत का इंट्रेस्ट रेट ऑफर कर रहा है, जबकि स्मॉल फाइनैंस बैंक सूर्योदय और फिनकेयर क्रमश: 6.25 प्रतिशत और 6 प्रतिशत का इंट्रेस्ट दे रहे हैं।

एचडीएफसी बैंक और ऐक्सिस बैंक में सेविंग अकाउंट पर 3.5 प्रतिशत प्रति वर्ष का ब्याज मिलता है। लक्ष्मी विलास बैंक भले ही साइज में इन बैंकों से काफी छोटा है, लेकिन यह सेविंग डिपॉजिट पर 5 प्रतिशत के रिटर्न की पेशकश कर रहा है। ऐसी ही स्थिति फिक्स्ड डिपॉजिट के साथ भी है। स्मॉल बैंक के साथ तीन वर्ष का फिक्स्ड डिपॉजिट करने पर आपको 7.3 प्रतिशत का इंट्रेस्ट मिल सकता है, जबकि एचडीएफसी बैंक समान अवधि के फिक्स्ड डिपॉजिट पर 7 प्रतिशत का इंट्रेस्ट देगा। छोटे बैंक डिपॉजिटर्स को आकर्षित करने के लिए अधिक इंट्रेस्ट रेट पर निर्भर कर रहे हैं।

डरने की जरूरत नही:

स्मॉल फाइनैंस बैंकों का बिजनस अभी नया है और इसी वजह से उनकी स्थिरता को लेकर डिपॉजिटर्स की आशंका स्वाभाविक है। हालांकि, इंडस्ट्री के जानकारों का कहना है कि नाकाम हुए बैंकों के साथ निपटने को लेकर सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए इस तरह की आशंका का कोई मतलब नहीं है।

डिपॉजिट इंश्योरेंस ऐंड क्रेडिट गारंटी कॉर्पोरेशन बैंकों के नाकाम होने के कारण होनेवाले जोखिम या नुकसान के खिलाफ 1 लाख रुपए तक के सेविंग्स, करंट और रेकरिंग डिपॉजिट के लिए इंश्योरेंस देती है।

अगर फाइनैंशल रेजॉलुशन ऐंड डिपॉजिट इंश्योरेंस बिल, 2017 पास होता है तो यह इंश्योरेंस और बढ़ सकती है। अधिक इंट्रेस्ट रेट खोजनेवाले लोगों के लिए छोटे बैंक एक अच्छा विकल्प हैं और उन्हें इन बैंकों में अपनी रकम की सुरक्षा को लेकर ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...