जज से कहा- मेरी अम्मी को अब्बा ने मारा है, उम्रकैद की सजा

सीकर। एक 13 साल के बच्चे ने कोर्ट में अपनी मां उल्फत की हत्या के मामले में दोषी पिता मोहम्मद इलियास के खिलाफ बेझिझक बयान दिया।

सोयल की गवाही पर कोर्ट ने उसके पिता को उम्रकैद की सजा सुनाई।

वो सभी बातें कोर्ट में कहीं जिस वजह से उसके पिता ने ईंट से मां का सिर फोड़ दिया।

सोयल का बयान

उसके माता-पिता में आए दिन झगड़ा होता था और हमेशा उसके पिता तलाक देने की धमकी देते थे।

घटना के दिन अब्बा मीट लेकर आए थे,

अम्मी ने मीट बनाया तो वह कच्चा रह गया जिस पर अब्बा गुस्सा हो गए और अम्मी से झगड़ा करने लगे।
कहा- रात में जगा तो मां थी लहूलुहान
रात में दोनों में फिर झगड़ा हुआ और अब्बा ने अम्मी के सिर पर ईंट दे मारी। मैं जगा और जब मां के पास गया तो वह लहूलुहान थी,

मैंने अम्मी से पूछा क्या हुआ तो उसने बताया कि तेरे अब्बा ने मुझे मारा है।

जज सुरेंद्र पुरोहित ने बच्चे के बयान के आधार पर अभियुक्त को दोषी करार देकर उम्रकैद की सजा सुनाई है।

साथ ही 25 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया ।

उल्फत के भाई ने दर्ज करवाई थी FIR

अपर लोक अभियोजक रमेश पारीक ने बताया कि 5 अक्टूबर 2016 को परिवादी मुस्लिम पुत्र रहमान काजी ने कोतवाली में एफआईआर दर्ज करवाई।

मुस्लिम ने रिपोर्ट दी कि उसकी बहन उल्फत की शादी मुल्जिम मोहम्मद इलियास निवासी सीकर के साथ हुई थी।

जिसे शादी के बाद से ही इलियास परेशान किया करता था।

मुस्लिम ने बताया कि इलियास ने 4 अक्टूबर 2016 को उसे फोन किया लेकिन बात नहीं की। जब

वह घर गया तो उल्फत लहूलुहान हालत में मिली।

वहीं उल्फत ने अपने बेटे को अंतिम क्षणों में बताया था कि तेरे पिता ने ही मुझे मारा है।

जब वह असे एसके अस्पताल लेकर पहुंचे तो डॉक्टर्स ने उल्फत को मृत घोषित कर दिया।

मुस्लिम ने साफ कहा कि जीजा मों.इलियास ने ही बहन की हत्या की है।

कोर्ट न्यायालय अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश क्रम संख्या-4 सुरेंद्र पुरोहित ने बेटे की गवाही सहित

अन्य 13 गवाह व सबूतों के बल पर अभियुक्त मोहम्मद इलियास को उम्रकैद की सजा सुनाई और 25 हजार जुर्माना भी लगाया।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...