जम्मू-कश्मीर: BJP नेताओं के जमीन खरीदने से सेना नाराज

जम्मू-कश्मीर के कई बीजेपी नेताओं ने नगरोटा ऐम्युनिशन (गोला-बारूद) डिपो के करीब जमीन खरीदी है. सेना ने इन पर बन रहे मकानों को अवैध बताते हुए इसे सुरक्षा पर खतरा बताया है.

विधानसभा के स्पीकर निर्मल सिंह ने साल 2014 में करीब 12 एकड़ जमीन खरीदी थी, जिसमें से 2,000 वर्ग मीटर प्लॉट पर उन्होंने मकान भी बनाना शुरू कर दिया है. आर्मी के 16 कॉर्प्स के कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल सरणजीत सिंह ने इसके खिलाफ एक सख्त लेटर लिखा है.

19 मार्च, 2018 को सीधे निर्मल सिंह को संबोधित लेटर में उन्होंने इस निर्माण को अवैध बताया है. उन्होंने कहा है, ‘इसका एक बड़े ऐम्युनिशन स्टोरेज सुविधा की सुरक्षा पर तो असर पड़ेगा ही, इसके आसपास रहने वाले सभी लोगों की सुरक्षा पर भी सवाल खड़े होंगे.’

लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने लिखा है, ‘क्या मैं आपसे यह अनुरोध कर सकता हूं कि ऐम्युनिशन डिपो के बिल्कुल करीब इस तरह के आवासीय मकान निर्माण पर पुनर्विचार करें, जो कि सुरक्षा के लिए खतरा बन सकता है.’

सेना के एक अधिकारी ने अखबार को बताया कि लेफ्टिनेंट जनरल सिंह को इस वजह से सीधे निर्मल सिंह को लेटर लिखने को मजबूर होना पड़ा, क्योंकि स्थानीय प्रशासन ने सेना द्वारा इस निर्माण को रोकने के अनुरोध पर कोई कार्रवाई नहीं की.

निर्मल सिंह ने कहा कि निर्माण को रोकने की बात ‘राजनीति से प्रेरित’ कदम है. उन्होंने कहा, ‘ऐसी कोई कानूनी बाध्यता नहीं है कि मैं यह निर्माण न करूं. सेना जो कुछ दावा कर रही है, वह बस उसकी राय है और उसे मानने के लिए मैं बाध्य नहीं हूं.’

गौरतलब है कि डिपो के पास की यह जमीन साल 2000 में गठित एक निजी कंपनी हिमगिरी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवपलमेंट प्राइवेट लिमिटेड (HIDPL)ने खरीदी थी. इस कंपनी के शेयरधारकों में बीजेपी नेता कविंदर गुप्ता और जम्मू-पुंछ लोकसभा सीट के बीजेपी सांसद जु्गल किशोर भी शामिल हैं.

यह भी पढ़ें :

  • 3
    Shares

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...