जल हौज बनाने पर अब मिलेगा अब 10 फीसदी अधिक अनुदान

महानगर संवाददाता जयपुर। मानसून की दस्तक से पहले वर्षा जलसंग्रहण को लेकर राज्य सरकार ने अनूठी पहल की है। इसके लिए फार्म पौंड तथा कुओं व नलकूपों से सिंचाई जल का उपयोग करने के लिए जल हौज बनाने पर इस बार किसानों को दस प्रतिशत अधिक अनुदान मिलेगा। कृषि विभाग ने इसके लिए बाकायदा फव्वारा, ड्रिप सिंचाई संयंत्र लगाना अनिवार्य कर दिया है।

इसके चलते इस बार फव्वारा एवं ड्रिप सिंचाई संयंत्र लगाने पर ही अनुदान दिया जाएगा। वर्षा जल संग्रहण के लिए कच्चे फार्म पौंड निर्माण पर कृषि विभाग द्वारा लागत का 60 प्रतिशत या अधिकतम 63 हजार रुपए अनुदान दिया जाएगा। जबकि पिछले साल लागत का पचास प्रतिशत या अधिकतम 53 हजार रुपए अनुदान था। इसी प्रकार प्लास्टिक लाइनिंग के फार्म पौंड बनाने पर अब लागत का 50 प्रतिशत या अधिकतम 90 हजार रुपए अनुदान दिया जाएगा।

इसमें अनुदान राशि 75 हजार रुपए से बढ़ाकर 90 हजार रुपए की गई है। इसी तरह कुओं एवं नलकूपों से सिंचाई जल का उपयोग करने के लिए जल हौज निर्माण पर विभाग द्वारा किसानों को लागत का 60 प्रतिशत या अधिकतम 90 हजार रुपए अनुदान दिया जाएगा। पिछले साल इस योजना के तहत किसानों को 50 प्रतिशत या अधिकतम 75 हजार रुपए का अनुदान मिलता था। दस प्रतिशत अनुदान राज्य योजना के तहत दिया जाएगा। अनुदान राशि बढ़ाने से किसानों को फॉर्म पौंड व जल हौज बनाने में सुविधा मिलेगी।

यह होगा नया नियम

फॉर्म पौंड व जल हौज के अनुदान के लिए अब फव्वारा व ड्रिप सिंचाई संयंत्र लगाना जरूरी है। इस बार फव्वारा व ड्रिप सिंचाई संयंत्र लगाने वाले किसानों को ही फॉर्म पौंड व जल हौज बनाने पर अनुदान मिल सकेगा। इसके लिए कृषि विभाग के अतिरिक्त निदेशक ने आदेश जारी किए हैं।

ऑनलाइन भी किया जा सकेगा आवेदन

कृषि विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इस बार फॉर्म पौंड व जल हौज निर्माण करने पर अनुदान दस प्रतिशत बढ़ाकर 60 प्रतिशत किया गया है। किसान जमाबंदी की नकल, नक्शा, भामाशाह एवं आधार कार्ड आवेदन पत्र के साथ लगाकर ई-मित्र पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। गौरतलब है कि पूर्व में किसी तरह अनुदान एवं प्रोत्साहन की किसी तरह की आकर्षक योजना नहीं होने से किसान जल हौज के प्रति कोई खास आकर्षण नहीं दिखाते थे लेकिन अब उम्मीद की जा रही है कि वे इसके प्रति रुझान दिखाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...