जानिये श्रीकृष्ण के जीवन से जुड़ी आठ रानियों की कहानी

0
156

श्रीकृष्ण के साथ हमेशा राधा और रूकमणी का नाम जोड़ा जाता है। पर क्या आप जानते हैं उनकी लाइफ में 8 और ऐसी स्त्रियां भी थीं जो उनके दिल के बेहद करीब थीं।धर्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान श्रीकृष्ण की 16, 100 रानियां और 8 पटरानियां थीं। लेकिन राधा श्रीकृष्ण की सिर्फ प्रेयसी थीं। कान्हा का विवाह राधा से नहीं हुआ था। कृष्णा महिलाओं की इच्छा का बहुत सम्मान करते थे।देवी रुक्मणी और मित्रविंदा की इच्छा का सम्मान करते हुए कान्हा ने स्वयंवर से इनका हरण किया था।खास बात यह है कि बहुत कम ही लोगों को उनके बारे में कुछ पता है। आइए जानते हैं माखन चोर के जीवन से जुड़ी ऐसी 8 स्त्रियों के बारे में जो उनके बेहद करीब रही…

जानें जन्माष्टमी का मतलब और भगवान श्रीकृष्ण की जन्म कथा

रुक्मणी 
पुराणों के अनुसार भगवान कृष्ण की पहली पत्नी रुक्मणी  थीं। जिन्हें देवी लक्ष्मी का अवतार माना जाता है। रुक्मणी श्री कृष्ण से विवाह करना चाहती थीं लेकिन उनके भाई रुक्मी को यह विवाह मंजूर नहीं था इसलिए उन्हें कान्हा से भागकर शादी करनी पड़ी थी। 

जामवंती
श्री कृष्ण ने दूसरा विवाह जामवंती से किया। जामवंती, जामवंत की पुत्री थीं। जामवंत ने श्री कृष्ण को उपहार में मणि भेंट कर उनके साथ अपनी कन्या का विवाह करा दिया था। बता दें यह वही मणि थी जिसे चुराने का आरोप भगवान कृष्ण पर लगा था।

सत्यभामा
भगवान कृष्ण की तीसरी पत्नी सत्यभामा थीं। सत्यभामा सत्राजित की बेटी थीं। जिस मणि को चोरी करने का आरोप कृष्ण पर लगा था यह मणि उन्हीं की थी। जैसे ही कृष्ण ने उनकी मणि उन्हें वापस की सत्राजित श्री कृष्ण पर लगाए गए अपने आरोपों के लिए लज्जित हो गए। उन्होंने भगवान से माफी मांगते हुए अपनी बेटी सत्यभामा का विवाह कृष्ण से करवा दिया।

कालिन्दी
यह भगवान श्री कृष्ण की चौथी पत्नी थीं। कालिन्दी सूर्य भगवान की पुत्री थीं जिन्होंने श्री कृष्ण को पति रूप में पाने के लिए कठोर तप किया था। उनकी इच्छा पूरी करने के लिए भगवान ने उनसे विवाह कर लिया।  

नग्नजिति
यह नंद के लाल की पांचवी पत्नी थीं। इनके पिता का नाम राजा नग्नजिति  था। राजा ने अपनी बेटी के स्वयंवर में ऐसी शर्त रखी जिसे सिर्फ श्री कृष्ण ही पूरा कर सकते थे। श्री कृष्ण ने राजा की शर्त को पूरा करते हुए एख ही अखाड़े में सात पागल सांडो को काबू करके नग्नजिति को अपनी पत्नी बनाया।

कृष्ण जन्माष्टमी 2018: जानें आज का शुभ मुहूर्त

मित्रवृंदा
यह कृष्ण की छठवीं पत्नी थीं। मित्रवृंदा उज्जैन के राजा विंद और अनुविंद की बहन थीं। मित्रवृंदा श्रीकृष्ण को अपना पति चुनना चाहती थीं लेकिन विंद और अनुविंद ने अपनी बहन को ऐसा नहीं करने दिया। जिसेक बाद कृष्ण बलपूर्वक मित्रवृंदा को स्वयंवर से उठाकर ले गए थे।

रोहिणी
ये श्री कृष्ण की सातवीं पत्नी थीं। रोहिणी ऋतुसुकृत की पुत्री थीं। रोहिणी ने स्वयं ही स्वयंवर के दौरान श्री कृष्ण को अपना पति चुना था।

लक्ष्मणा 
यह भगवान श्री कृष्ण की आठवीं पत्नी थीं। यह कैकेय देश की राजकुमारी थीं। इन्होंने अपने स्वयंवर के दौरान भगवान श्री कृष्ण के गले में वरमाला पहनाकर उन्हें अपना पति चुना था।

————————————————————————-

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...