टेस्ट क्रिकेट को लेकर इंग्लैंड के इस पूर्व दिग्गज ने दे दिया ये बड़ा बयान

खेल डेस्क। इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज केविन पीटरसन अपने यग के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से जाने जाते थे इस खिलाडी ने टीम में बल्लेबाजी को लेकर कई नाम कमाए है

इस खिलाडी ने इंग्लैंड की कप्तानी की जिम्मेदारी 2008 से जनवरी 2009 तक संभाली और

सभी फॉर्मेट्स में इस दिग्गज ने अपने कार्यकाल में टीम की जिम्मेदारी संभाली।

भारत में भी इस क्रिकेटर ने बहुत नाम कमाया है और ये खिलाडी भारत में सबसे चहेते

बल्लेबाजों की श्रेणी में से जाने जाते है।

टेस्ट क्रिकेट को शिखर पर पहुंचाने के लिए इस दिग्गज ने बड़ा बयान दिया है।

पीटरसन ने कहा कि “क्रिकेट विश्व के हर कोने में खेले जाने लगा है और मैं 100 प्रतिशत विश्वास करता हूं कि पांच दिवसीय टेस्ट खेल का सर्वोच्च रूप अभी भी बना हुआ है।

20-20 मैच रोमांच, शोर, गति और छोटी प्रतिभा प्रदान करता है।

इसने क्षेत्र को एक नए स्तर पर ला खड़ा किया है और बल्लेबाजी को फिर से परिभाषित किया है।”

चूंकि खेल के सबसे लम्बे प्रारूप में लोकप्रियता कम होती जा रही है दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने टेस्ट क्रिकेट

की अपील में सुधार के तरीकों का खुलासा किया, इसमें दिन-रात टेस्ट, बराबर वेतन,

विपणन और नवाचार और सस्ता टिकट शामिल है।

पीटरसन ने आगे कहा, “चलो टेस्ट क्रिकेट को एक शानदार बनाते हैं।

इसे रंग और आतिशबाजी के साथ खेले।”स्लेजिंग की अनुमति दें – जब तक यह लाइन के दाहिने तरफ बने रहें। प्रशंसकों के साथ बेहतर संवाद करें”

पीटरसन ने टेस्ट क्रिकेट को फिर से बदलने के लिए वित्तीय फोकस पर भी बात की, सुझाव दिया कि खिलाड़ियों को पांच दिवसीय प्रतियोगिता में प्रतिस्पर्धा

करने के लिए पर्याप्त रूप से भुगतान किया जाना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि

“चलो 20-20 नियमों की आलसी धारणा के शिकार होने से पहले टेस्ट मैच के पीछे बराबर मार्केटिंग क्लॉउट दें।”

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...