तपने लगा थार का रेगिस्तान, 44 डिग्री के पार पहुंचा तापमापी का पारा

0
34

जोधपुर। थार का रेगिस्तान अब तपना शुरू हो गया है। झुलसा देने वाले गरम हवा के थपेड़ों और अंगारों के समान बरसती तेज धूप के कारण लोगों का बाहर निकलना मुश्किल हो रहा है। इस वर्ष पहली बार लोगों को झुलसा देने वाली गर्मी का अहसास हो रहा है। जोधपुर जिले के फलोदी के साथ ही सीमावर्ती बाड़मेर व जैसलमेर में तापमापी का पारा 44 डिग्री को पार कर गया है। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले कुछ दिन तक तेज गर्मी का दौर जारी रहेगा और कुछ क्षेत्रों में तापमान 47 डिग्री तक पहुंच सकता है। ऐसा है पश्चिमी राजस्थान का मौसम…

 थार के रेगिस्तान में अब गर्मी ने अपने तेवर दर्शाने शुरू कर दिए है। रेगिस्तानी इलाकों में गरम हवा के थपेड़े चलना शुरू हो गए है। वहीं दिन निकलते ही धूप तन को झुलसा रही है। दोपहर के समय लोगों के लिए घर से बाहर निकलना मुश्किल हो रहा है। तेज गर्मी के कारण लोगों की दिनचर्या में भी बदलाव आ रहा है। लोग अब अपने आवश्यक कार्य सुबह या शाम को करने को प्राथमिकता दे रहे है।

 रेगिस्तानी क्षेत्र पश्चिमी राजस्थान के लोग अभी तक तेज गर्मी से बचे हुए थे। अभी तक तापमान चालीस डिग्री के आसपास ही बना हुआ था, लेकिन गुरुवार से गर्मी में यकायक तेजी आ गई। सबसे अधिक तापमान 44.5 डिग्री जोधपुर जिले के फलोदी में दर्ज किया गया। वहीं सीमावर्ती जैसलमेर व बाड़मेर में तापमान 44.4 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं जोधपुर में थोड़ा कम 42.6 डिग्री तापमान रहा। इन सभी स्थान पर रात का तापमान भी उछल कर 27 डिग्री पहुंच गया। इस कारण लोगों को रात में भी राहत नहीं मिल पा रही है।

मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले कुछ दिन तक पश्चिम राजस्थान में गर्मी और तेज होगी। कुछ क्षेत्रों में तापमान 47 डिग्री तक पहुंच सकता है। ऐसे में अगले कुछ दिन तक किसी प्रकार की राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

पश्चिमी राजस्थान के रेगिस्तानी जिलों में गत वर्ष अप्रेल के अंतिम सप्ताह में अधिकतम तापमान वर्तमान की अपेक्षा काफी कम था। गत वर्ष इन दिनों में जोधपुर का अधिकतम तापमान 40.1, फलोदी में 42, बाड़मेर में 39.2 और जैसलमेर में 40.8 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा था। इससे स्पष्ट है कि इस बार अप्रेल के अंतिम सप्ताह में रेगिस्तान गत वर्ष की अपेक्षा अधिक गर्मी पड़ रही है।

पश्चिमी राजस्थान में 19 मई 2016 को इतनी अधिक गर्मी पड़ी थी कि तापमान के सभी पुराने रिकॉर्ड पिघल गए। इस दिन जोधपुर के फलोदी में तापमान 51 डिग्री तक पहुंच गया था। यह पूरे देश में सर्वाधिक तापमान का नया रिकॉर्ड था। इससे पहले वर्ष 1956 में सबसे अधिक 50.6 डिग्री तापमान राजस्थान के अलवर में दर्ज किया गया था। इस दिन जोधपुर में तापमान नए रिकॉर्ड बनाते हुए 49.4 डिग्री तक पहुंच गया था। इससे पूर्व वर्ष 1032 में जोधपुर का अधिकतम तापमान 48.9 डिग्री का रिकॉर्ड था। इसी दिन सीमावर्ती बाड़मेर में तापमान 49.5 व जैसलमेर में 49 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...