तलवार दम्पति की रिहाई के खिलाफ याचिका स्वीकृत

0
53

नई दिल्ली। वर्ष 2008 के बहुचर्चित आरुषि तलवार – हेमराज हत्याकांड में डॉक्टर दंपति राजेश तथा नूपुर तलवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा बरी किए जाने के फैसले खिलाफ CBI खी अपील को सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सीबीआई की अपील पर तलवार दंपत्ति के घरेलू सहायक हेमराज की पत्नी की अपील के साथ सुनवाई होगी. कोर्ट ने पिछले साल अक्टूबर में रिहा कर दिए गए आरुषि के माता-पिता को नोटिस भी जारी कर दिया है।

घरेलू नौकर हेमराज की पत्नी ने भी डेंटिस्ट दंपति को बरी किए जाने के विरुद्ध अपील की थी. बता दें कि बाद में हेमराज भी मृत पाया गया था।

पिछले साल 12 अक्टूबर को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने रिकॉर्ड में उपलब्ध सबूतों के आधार पर राजेश-नूपुर को बरी करते हुए CBI की विशेष अदालत के फैसले को पलट दिया था, जिसमें उन्हें दोषी करार देकर उम्रकैद की सज़ा सुनाई गई थी।

CBI ने इसी साल मार्च में इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी. CBI ने सुप्रीम कोर्ट में दलील दी है कि हाईकोर्ट द्वारा राजेश और नूपुर तलवार को निर्दोष साबित करने का जो फैसला दिया गया, उसे कई मायनों में गलत साबित किया जा सकता है. CBI ने याचिका में कहा कि हाईकोर्ट के आदेश में कई खामियां हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...