…तो चीन भी लगा देगा अमरीकी व्यापार पर बैन

बीजिंग। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की ओर से व्यापार शुल्क बढ़ाने का बयान आने के बाद चीन ने भी अपनी कड़ी आपत्ति दर्ज करा दी है। चीन ने अमरीका को चेतावनी दी है कि
यदि उसने ऐसा कुछ किया तो फिर दोनों देशों के बीच व्यापार और व्यापार पर पहुंचने वाले किसी
भी समझौते को रद्द किया जा सकता है। अमरीकी वाणिज्य सचिव विल्बर रॉस ने चीनी उपराष्ट्रपति लियू से मुलाकात की।
इसके बाद उन्होंने सरकारी समाचार एजेंसी सिन्हुआ को दिए एक संक्षिप्त बयान में किसी विशेष नए समझौते का कोई जिक्र नहीं किया है।
मिलकर कार्य करें दोनों देश
सिन्हुआ ने कहा कि वाशिंगटन में बनी सहमति के चलते दोनों देशों ने कृषि और ऊर्जा जैसे
विभिन्न क्षेत्रों में अच्छा कार्य किया है।
उसने कहा कि चीन हमेशा से ही अमरीका सहित अन्य देशों से आयात बढ़ाने का इच्छुक रहा है। उसने
लिखा कि घरेलू मांग को सुधारना और खोलना चीन की राष्ट्रीय रणनीतियों में से है और
इसे हम बदल नहीं सकते हैं।
सिन्हुआ ने कहा कि चीन और
अमरीका को आपस में व्यापारिक युद्ध करने के बजाय मिलकर कार्य करना चाहिए।
दोनों पक्षों को आधे-आधे रास्ते मिलने चाहिए। उसने लिखा कि यदि
अमरीका शुल्क बढ़ाने सहित व्यापार प्रतिबंधों की बात करता है तो
दोनों पक्षों की ओर से सभी आर्थिक और व्यापारिक उपलब्धियां शून्य हो जाएंगी।
अमरीका ने यह दी धमकी
ज्ञात हो कि पिछले माह अमरीका ने चेतावनी दी थी कि वह 50 अरब डॉलर के चीनी आयात पर शुल्क बढ़ाएगा
और चीनी निवेश पर प्रतिबंध भी लगाएगा।
साथ ही निर्यात नियंत्रण को और कड़ा बनाया जाएगा।
लेकिन जब यह दो आर्थिक हेवीवेट्स के बीच एक व्यापारिक संघर्ष हुआ
Read Also:

अमरीका ने गाजा हिंसा पर खारिज किया यून का एक तरफा प्रस्ताव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...