दिल्लीः पुलिस ने छुड़ाए 39 बाल मजदूर, 5 फैक्ट्रियां सील

दिल्ली पुलिस ने सुल्तानपुरी इलाके की कई फैक्ट्रियों में छापेमारी कर तीन दर्जन से ज्यादा बच्चों को मुक्त कराया है. इन बच्चों से मजदूर के तौर पर काम लिया जा रहा था.

पुलिस का दावा है कि मुक्त कराए गए सभी बच्चों की उम्र 16 वर्ष से कम है.

सुल्तानपुरी इलाके में सोमवार को दिल्ली पुलिस और बचपन बचाओ

आंदोलन की टीम ने अचानक माजरा इलाके की फैक्ट्रियों में छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम दिया.

हर फैक्ट्री में चप्पे चप्पे की तलाशी ली गई और जब पुलिस टीम बाहर आई तो उनके साथ कई मासूम बच्चे थे,

जो वर्षों से इन फैक्ट्रियों में काम कर रहे थे.

पुलिस और बचपन बचाओ आंदोलन की टीम के मुताबिक कोई बच्चा जींस बनाने की

फैक्ट्री में काम कर रहा था तो कोई बर्तन बनाने की फैक्ट्री में. कोई नाबालिग दुकान पर काम करता था

तो कोई बाइक मैकेनिक की दुकान पर काम करता था.

पुलिस की टीम ने छापे के दौरान कुल मिलाकर 39 बच्चे मुक्त कराए,

जो इन अंधेरे कारखानों में काम कर रहे थे. छुडाए गए बच्चों की उम्र 16 साल से कम है

. बच्चों ने अपनी उम्र भी बताई और तनख्वाह भी. बच्चों ने इस बात का खुलासा भी किया

कि किस तरह कम पैसों में उनसे काम कराया जाता था.

रोहिणी के एसडीएम शैलेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि पुलिस ने इलाके में चलने वाली 5 फैक्ट्रियों को सील भी किया है.

छुड़ाए गए सभी बच्चों को फिलहाल चाइल्ड होम में रखा गया है.

Read Also:
  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...