दिल्ली में ड्राइवरों को ठग रहे मोटर ड्राइविंग स्कूल: विजेंद्र गुप्ता

दिल्ली|दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने दिल्ली के मोटर ड्राइविंग स्कूलों पर बड़ा आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा नए नियम लागू करने के बावजूद दिल्ली में मोटर ड्राइविंग स्कूल ऐसे ड्राइवरों को ठग रहे हैं जिन्हें नए नियम की जानकारी नहीं है.

गुप्ता ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा 16 अप्रैल 2018 को सभी बिना गियर वाले मोटरसाइकिलों, गियर वाले मोटरसाइकिलों के साथ-साथ सामान और सवारियां ढोने वाले हलके मोटर वाहनों और इ रिक्शा/इ कार्ट चालकों के लिए कमर्शियल लाइसेंस की अनिवार्यता को समाप्त करने के बावजूद दिल्ली में इन आदेशों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं. गुप्ता ने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार की ट्रांसपोर्ट अथॉरिटीज और मोटर ट्रेनिंग स्कूलों की मिली भगत से आज भी पुराने आदेशों के अनुसार कमर्शियल ड्राइविंग लाइसेंस जारी हो रहे हैं. आज भी कमर्शियल ड्राइविंग लाइसेंस पाने तथा नवीकरण के लिए मोटर ट्रेनिंग स्कूलों से फॉर्म नंबर 5 लिया जा रहा है.

गुप्ता ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा 3 जुलाई 2017 को एक मामले में दिए गए निर्णय का कार्यान्वयन करते हुए 16 अप्रैल 2018 को सभी राज्य सरकारों तथा संघ शासित क्षेत्रों की सरकारों को आदेश जारी कर बिना गियर वाले मोटरसाइकिलों, गियर वाले मोटरसाइकिलों तथा सामान व सवारियां ढ़ोने वाले हलके मोटर वाहनों तथा इ रिक्शा/ इ कार्ट चालकों के लिए कमर्शियल लाइसेंस की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया है और ये आदेश पूरे भारत में लागू भी हो चूका है.

केंद्र सरकार के इन आदेशों के अनुसार अब इन वाहनों के चालकों को कमर्शियल ड्राइविंग लाइसेंस लेने की आवश्यकता नहीं है. इससे पूर्व इन चालकों को हर 3 साल के बाद कमर्शियल ड्राइविंग लाइसेंस का रिन्यूवल करवाना पड़ता था जिसके लिए इन्हें मोटर ट्रेनिंग स्कूलों और मोटर लाइसेंसिग अथॉरिटीज के बार बार चक्कर लगाने पड़ते थे. गुप्ता ने आरोप लगाते हुए कहा की मोटर ट्रेनिंग स्कूलों के दबाव में दिल्ली सरकार इनके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं कर रही है. क्योंकि केंद्र सरकार द्वारा जारी आदेशों से इन स्कूलों का धंधा चौपट हो जायेगा. केंद्र सरकार ने अपने आदेशों से लाखों हलके कमर्शियल वाहन चालकों को लालफीता शाही से राहत दी है लेकिन दिल्ली में इसे अमली जामा पहनाए जाने में लापरवाही के कारण आज भी ड्राइवर शोषण का शिकार हैं.

विजेंद्र गुप्ता ने दिल्ली सरकार को चेतावनी दी है की वो जल्द से जल्द दिल्ली ट्रांसपोर्ट अथॉरिटीज तथा मोटर ट्रेनिंग स्कूलों के बीच चल रहे धंधे का संज्ञान ले कर दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करे और गरीब वाहन चालकों को इनके चंगुल से आजाद करे जो आदेशों में बदलाव के बाद भी इन गरीब वाहन चालकों के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं.

Read More:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here