दिव्यांग को आरक्षण क्यों नहीं- हाईकोर्ट

जयपुर। राजस्थान हाईकोर्ट ने राजस्थान विश्वविद्यालय कुलपति, रजिस्ट्रार और प्रमुख उच्च शिक्षा सचिव सहित अन्य को नोटिस जारी कर पूछा
 असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती में दिव्यांग को आरक्षण का लाभ क्यों नहीं दिया गया है।

साथ ही अदालत ने याचिकाकर्ता को अंतरिम रूप से साक्षात्कार में शामिल करने को कहा है।

न्यायाधीश इन्द्रजीतसिंह की अवकाशकालीन एकलपीठ ने यह आदेश विक्रमसिंह की ओर से दायर याचिका पर प्रारंभिक सुनवाई करते हुए दिए।

याचिका में कहा गया कि आरयू ने गत वर्ष 22 मई को असिस्टेंट प्रोफेसर और असिस्टेंट लाईब्रेरियन के लिए भर्ती निकाली।

जिसमें एससी, एसटी और ओबीसी को नियमानुसार आरक्षण का लाभ दिया गया, लेकिन दिव्यांग को आरक्षण का लाभ नहीं दिया गया।

याचिका में कहा गया कि याचिकाकर्ता लो विजन श्रेणी का दिव्यांग है।

आरक्षण का लाभ नहीं मिलने के चलते उसे चयन प्रक्रिया से बाहर किया गया है। वहीं आरयू 9 जून से इन पदों के लिए साक्षात्कार ले रही है। ऐसे में याचिकाकर्ता को भी भर्ती प्रक्रिया में शामिल किया जाए।

जिस पर सुनवाई करते हुए अवकाशकालीन एकलपीठ ने संबंधित अधिकारियों को नोटिस जारी करते हुए

याचिकाकर्ता को अंतरिम रूप से साक्षात्कार में शामिल करने के आदेश दिए हैं।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...