दुनिया पर पड़ेगी ईरान और इजरायल युद्ध की मार

यरूशलम/तेहरान। भले ही युद्ध इजरायल और ईरान में हो रहा हो, लेकिन, इस युद्ध का प्रभाव वैश्विक पड़ेगा। इस युद्ध से दोनों देशों की अर्थव्यवस्था और विकास बेपटरी हो जाएंगे, साथ ही इनसे जुड़े मित्र देशों पर भी इसकी मार पड़ेगी। विशेषज्ञों का कहना है कि इसकी भरपाई बहुत जल्दी करना किसी के लिए भी संभव नहीं होगा। इस युद्ध से राजनयिकों और क्षेत्रीय सरकारों को भी डर लग रहा है। हालांकि, उनका मानना है कि इससे तेजी से अनिवार्यता की भावना भी मिल रही है।

इजरायल और ईरान का हठ योग

ईरान ने अपने रोबोट रॉकेट से इजरायल पर निशाना साधा था, जिसके जवाब में इजरायल ने भी हवाई हमले किए थे। यह युद्ध हर किसी को चिंतित कर रहा है। इजरायल का कहना है कि वह किसी भी कीमत में ईरान को सीरिया में स्थाई सैन्य आधार स्थापित नहीं करने देगा। इसके लिए जो जरूरी होगा, वे कदम उठाए जाएंगे। वहीं ईरान का कहना है कि उसने सीरिया में गृह युद्ध जीतने में अपनी सेना का बहुत खून बहाया है और खूब सारा खजाना भी लुटाया है। ऐसे में वह अपना वजूद वहां कैसे समाप्त कर सकता है। यही कारण है कि ये दोनों देश आमने-सामने हो गए हैं। इनमें से कोई भी अपनी बात से हटने को तैयार नहीं है। ऐसे में इनका युद्ध कब और कैसे समाप्त होगा, इसकी कल्पना करना फिलहाल संभव नहीं है।

दोनों देश इसलिए आमने-सामने

इजरायल का कहना है कि उसे तबाह करने के लिए ईरान सीरियाई क्षेत्र का इस्तेमाल कर रहा है, उसने वहां सैकड़ों सैनिक तैनात कर रखे हैं और रक्षा ठिकाने बना रखे हैं। वहीं इजरायल को ईरान के परमाणु कार्यक्रमों से भी आपत्ति है। लेबनानी आतंकवादी संगठन हिजबुल्ला सीरिया में आधुनिक हथियार लेकर मजबूत हो, क्योंकि, वो इजरायल के लिए खतरा है। वहीं सीरिया का आरोप है कि उसके यहां आतंकी संगठन पनपाने में इजरायल की बड़ी भूमिका है।

Read More:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here