दूध कम आया, डेयरी ने मांगी पुलिस; 3 दिन में सब्जियां 50%तक महंगी

जयपुर. किसानों के गांवबंद आंदोलन के तीसरे दिन रविवार को दूध संकलन और सप्लाई गड़बड़ा गई है। रविवार को 6 लाख लीटर दूध सरस डेयरी तक नहीं पहुंचा।

सोमवार को शहर के डेयरी बूथों पर दूध की किल्लत रह सकती है। आंदोलन के बीच उत्पाती लोगों के मद्देनजर डेयरी प्रशासन ने सोमवार से जयपुर में टैंकर्स से संकलन बंद रखने का फैसला किया है।

डेयरी का तर्क है कि तीन दिन में तोड़फोड़ के कारण एक करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है।
रविवार को भी असामाजिक तत्वों ने डेयरी का 15 हजार लीटर दूध सड़कों पर बहा दिया।
तीन दिन में डेयरी का करीब 50 हजार लीटर दूध सड़कों पर बहाया जा चुका है।
डेयरी चेयरमेन ओम प्रकाश पूनिया ने कहा कि डेयरी ने आंदोलन के शुरूआती दिन
पांच एफआईआर दर्ज कराई थी। पुलिस कार्रवाई करने की अपेक्षा मामला दर्ज करने से मना कर रही है।
पुलिस ने सुरक्षा देने की जगह डेयरी प्रशासन को दूध का संकलन नहीं करने की नसीहत दी है।

10 लाख लीटर की जगह मिला 4 लाख लीटर दूध

डेयरी के पास पर्याप्त मात्रा में दूध नहीं होने पर रविवार को शहर में दूध की किल्लत रही।

बूथों पर लोगों को सुबह 7 बजे बाद दूध नहीं मिला। दुधियों ने भी शहर में दूध सप्लाई करना बंद कर दिया।

डेयरी को शहर में दूध सप्लाई करने के लिए करीब 10 लाख लीटर की जरूरत है,

जबकि रविवार को 4 लाख लीटर दूध ही मिला।

दूध ला रहे टैंकरों को रोका, तोड़ा और दूध बहा दिया

दूध संकलन के लिए रविवार को गई डेयरी के 5 वाहनों में तोड़फोड़ हुई। 3 टैंकरों का 15 हजार लीटर दूध सड़कों पर बहा दिया गया।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...