देश में बदलाव की आंधी के आसार, वादों को पूरा करने में मोदी सरकार फेल; ‘जन आक्रोश’ रैली में बोलीं सोनिया गांधी

0
10

नई दिल्ली: कांग्रेस की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी ने रविवार (29 अप्रैल) को नरेंद्र मोदी सरकार पर देश की संस्थाओं को कमजोर करने और वादों को पूरा करने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए कहा कि देश में परिवर्तन की आंधी के आसार हैं. पार्टी की ‘जन आक्रोश’ रैली में सोनिया ने कहा, ‘मोदी सरकार ने देश के साथ विश्वासघात किया है. मोदी जी ने जो वादे किए, वो पूरे नहीं हुए.’

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया ने कहा, ‘आप लोग (कार्यकर्ता) जिस गर्मजोशी से यहां आए हैं उससे साबित होता है कि देश मे परिवर्तन की आंधी के आसार हैं. उन्होंने कहा, ‘ देश में परेशानी का माहौल है. छोटे कारोबारी, किसान, दलित, आदिवासी और अल्पसंख्यक सभी परेशान हैं. दो करोड़ नौकरियों का वादा किया गया, लेकिन आज युवा परेशान है. सभी के साथ धोखा हुआ है.’ उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की नीतियों ने अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया और महंगाई बढ़ गई है.

सोनिया ने सवाल किया, ‘न खाऊंगा, न खाने दूंगा …. इस दावे का क्या हुआ. भ्रष्टाचार बढ़ गया है. सत्ता हथियाने के लिए जो वादे किए गए थे वो सब खोखले साबित हुए.’ उन्होंने कहा, ‘देश हिंसक दौर से गुजर रहा है. संस्थाओं को कमजोर किया जा रहा है. चुनाव को ध्यान में रखकर समाज को बांटा जा रहा है. सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग हो रहा है.”

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस नेताओं ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर ‘देश को धोखा देने’ का आरोप लगाते हुए रविवार (29 अप्रैल) को कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में ही देश को सही दिशा मिलेगी. पार्टी की ‘जन आक्रोश’ रैली में लोकसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, “बदलाव लाना होगा और राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाना होगा.”

उन्होंने कहा, ‘आज मोदी सरकार में चारों तरफ अराजकता है. महिलाएं असुरक्षित हैं, किसान परेशान हैं, नौजवान परेशान हैं. पेट्रोल और डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं. महंगाई से जनता त्राहि त्राहि कर रही है और सरकार आंख-कान बंद करके बैठी हुई है. इस सरकार ने देश को धोखा दिया है.’

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने दावा कि मोदी सरकार के ‘निकम्मेपन’ से देश की जनता में आक्रोश है. रावत ने कहा, ‘इस सरकार के कार्यकाल में सभी वर्गों के लोगों में आक्रोश है. किसान, नौजवान, मजदूर, महिलाएं और दूसरे वर्ग इस सरकार से बहुत नाराज हैं. हर साल दो करोड़ लोगों को नौकरी देने का वादा किया गया था. नयी नौकरियों की बात छोड़ दीजिये, पुरानी नौकरियां भी चली गईं. जनता अगले चुनाव में इस सरकार को सबक सिखाएगी.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...