नगालैण्ड में चुनाव के दौरान बम धमाका

0
86

कोहिमा। देश के दो पूर्वी राज्यों मेघालय और नगालैंड में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान शुरू हो गया। इसके कुछ देर बाद ही नगालैंड में हिंसा भड़क गई। सूत्रों के मुताबिक नगालैंड के तिजित जिले के एक पोलिंग बूथ में कुछ असमाजिक तत्वों ने देसी बम से धमाका कर दिया। इसमें एक व्यक्ति घायल हो गया। इसके साथ ही कई जगह पर पोलिंग पार्टियों पर भी हमले किए गए। इससे पहले चुनाव आयोग ने शाम चार बजे तक वोटिंग चलने की बात कही है, जबकि नगालैंड के दूरदराज के जिलों में कुछ मतदान केन्द्रों पर तीन बजे तक मतदान चलने की उम्मीद है। चुनाव परिणाम तीन मार्च को घोषित किए जाएंगे। इसके अलावा कई जगहों पर ईवीएम मशीन की वजह से मतदान देरी से शुरू हुआ। उधर, पीएम नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर मेघालय और नगालैंड की जनता से ज्यादा से ज्यादा मतदान करने की अपील की है।

राज्यों में सीट तो 60…चुनाव 59 पर

मेघालय और नगालैंड में विधानसभा की 60-60 सीटें हैं. लेकिन दोनों ही जगहों पर 59 सीटों के लिए वोटिंग हो रही है। दरअसल, मेघालय में 18 फरवरी को ईस्ट गारो हिल्स जिले में एक आईईडी विस्फोट में एनसीपी के प्रत्याशी जोनाथन एन संगमा की मौत हो जाने से विलियमनगर सीट पर चुनाव रद्द कर दिया गया है। वहीं, नगालैंड में एनडीपीपी प्रमुख नीफियू रियो को उत्तरी अंगामी द्वितीय विधानसभा सीट से निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया जा चुका है।

नगालैंड का यह है चुनावी गणित

नगालैंड में बीजेपी नीफियू रियो की नेशनलिस्ट डेमोके्रटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) के साथ चुनावी वैतरणी पार लगाने की उम्मीद में है। दोनों गठबंधन भागीदारों में से एनडीपीपी ने 40 और बीजेपी ने बाकी 20 सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं। साल 1963 में नगालैंड के अस्तित्व में आने के बाद कांग्रेस ने तीन मुख्यमंत्री दिए। लेकिन वह अब केवल 18 सीटों पर लड़ रही है, जबकि बीजेपी यहां 20 सीटों पर खड़ी है। फिलहाल यहां नेशनल पीपुल्स पार्टी की सरकार है। पिछले चुनाव (2013) में एनपीपी को 38, कांग्रेस को 8, बीजेपी को 1, एनसीपी को 4 सीटें मिली थीं। जबकि 8 निर्दलीय प्रत्याशी जीतकर आए थे।

मेघालय में ऐसा है सत्ता का समीकरण

मेघालय में कांग्रेस के 59 और बीजेपी के 47 सीटों पर प्रत्याशी हैं। यहां लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष पीए संगमा के बेटे कॉनराड संगमा की नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) और बीजेपी अलग-अलग चुनाव लड़ रही है, लेकिन नॉर्थ ईस्ट डेमोके्रटिक अलायंस (एनईडीए) में एनपीपी बीजेपी की सहयोगी है। फिलहाल यहां कांग्रेस की सरकार है। पिछले चुनाव (2013) में यहां कांग्रेस को सबसे ज्यादा 29 सीटें मिली थीं। जबकि 13 निर्दलीय प्रत्याशियों ने चुनाव जीता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...