नदी में बोरी में मिले शव की शिनाख्त, दो महिलाओं समेत सात गिरफ्तार

0
77

महानगर संवाददाता
झालावाड़। जिले के मंडावर थाना क्षेत्र के कालीसिंध नदी पर स्थित हरीचन्द डैम पर 4 अगस्त को प्लास्टिक के बोरे में बन्धी मिली लाश की शिनाख्त कर हत्या के 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।
पुलिस अधीक्षक आनन्द शर्मा ने बताया कि अज्ञात व्यक्ति की अज्ञात व्यक्तियों द्वारा हत्या कर साक्ष्य छुपाने के लिए नदी में लाश फैंकने पर थाना मण्डावर में प्रकरण दर्ज किया गया। मौके पर मिले मोबाइल व अन्य सामान को जब्त कर लाश के सम्बन्ध में जांच प्रारम्भ की। आशाराम चौधरी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक झालावाड़ के निर्देशन में गठित विमल सिंह वृताधिकारी खानपुर, रामप्रसाद एसएचओ मण्डावर, महेन्द्र मारू एसएचओ खानपुर को शामिल करते हुए विशेष टीम गठित की गई। अज्ञात मृतक के पास मिला मोबाइल घाटोली थाना क्षेत्र के व्यक्ति का होना व करीब 15 दिन पूर्व चोरी होना ज्ञात हुआ। प्रकरण में तकनीकी अनुसंधान की सहायता से सुकेत के रहने वाले दो व्यक्ति ग्राम दुर्जनपुरा थाना घाटोली आना ज्ञात हुआ। प्रकरण घाटोली व सुकेत क्षेत्र में आसूचनाओ के संकलन के आधार पर मृतक का सम्बन्ध सुकेत क्षेत्र से सुस्थापित होने पर विशेष टीम द्वारा पीने के आदी जलालुद्वीन व उसके परिवारजनों से कड़ी पूछताछ की तो जलालुद्वीन व अन्य अभियुक्त गण द्वारा महावीर की हत्या करना कबूल किया। पूछताछ में जलालुद्वीन उर्फ जल्लू ने बताया कि महावीर को मेरी पत्नी के कमरे में जाते देखकर मैंने व परिवारजनों ने योजनाबद्व तरीके से महावीर गुर्जर को चाकू से व अन्य धारदार हथियारों से हत्या कर दी। महावीर गुर्जर के शव को 3 दिन तक घर पर रखा। शव में बदबू आने पर जल्लू व उसके परिवार जनों ने शव को पहले प्लास्ट्कि के कट्टों में बांध कर चटाई से ढका, फिर प्लास्टिक के कट्टों से बांध कर जलू व पत्नी मूमताज, जवाई सानू, बेटी नसीम, अंजू, सदाम, कल्लू, शरीफ, इमरान योजना बनाकर लाश को घर की बोलेरो गाड़ी में रात्रि को झालावाड़ होते हुए गागरोन दुर्ग की मण्डावर पुलिया पर लाश को नदी के तेज बहाव में डालकर दिया। जल्लू उर्फ जलालुद्वीन थाना सुकेत का हिस्ट्रीशीटर है। जिसके विरुद्व कुल 13 प्रकरण दर्ज है, जिनमें पांच प्रकरण मादक पदार्थ तस्करी से संबंधित व 8 प्रकरण लड़ाई झगड़ा व चोरी से संबंधित है। मुलजिम शरीफ उर्फ गोनिया के विरुद्व कुल 21 प्रकरण दर्ज हैं। जिनमें 1 प्रकरण हत्या का, 3 प्रकरण मादक पदार्थों की तस्करी से संबंधित तथा 17 प्रकरण अवैध हथियार लड़ाई झगड़ा व चोरी के प्रकरण है। सद्दाम के विरुद्व 2 प्रकरण दर्ज हैं जिनमें 1 हत्या का व 1 अवैध हथियार संबंधित है। मुलजिम कल्लू के विरुद्व 3 प्रकरण दर्ज हैं जिनमें 1 प्रकरण हत्या व 2 चोरी से संबंधित है। मुलजिम जल्लू उर्फ जलालुद्वीन का पूरा परिवार ही आपराधिक प्रवृति का है। इनके द्वारा पूर्व वर्ष 2013 में भी थाना बकानी में शहजाद पुत्र शरीफ की हत्या में सद्दाम, कल्लू, अन्जू, इमरान, शरीफ के प्रकरण में जेल जा चुके हैं तथा एचएस जल्लू का पुत्र जफर वर्तमान में आजीवन कारावास की सजा भुगत रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...