नागेश्वर राव ने रद्द किए आलोक वर्मा के आदेश

0
54
सूत्रों के मुताबिक दोबारा पद संभालते ही उन्होंने पूर्व निदेशक आलोक वर्मा द्वारा जारी तबादलों के आदेश रद्द कर दिए हैं.
इससे पहले गुरुवार रात आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक के पद से हटाए जाने के बाद नागेश्वर राव को अंतरिम CBI निदेशक बनाया गया।
पद से हटाए जाने के बाद आलोक वर्मा ने एक बयान में कहा है कि उन्हें उनके विरोध में रहने वाले एक व्यक्ति की ओर से लगाए गए झूठे, निराधार और फर्जी आरोपों के आधार पर हटाया गया है।

आलोक वर्मा ने दावा किया ‘मैंने एजेंसी की ईमानदारी को बनाए रखने की कोशिश की है जबकि उसे बर्बाद करने की कोशिश की जा रही थी.’ उन्होंने कहा, ‘CBI को बाहरी दबावों के बगैर काम करना चाहिए।’

गुरुवार रात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली उच्चस्तरीय चयन समिति ने भ्रष्टाचार और कर्त्तव्य में लापरवाही बरतने के आरोप में आलोक वर्मा को पद से हटा दिया।

इस समिति में भारत के प्रधान न्यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई के प्रतिनिधि न्यायमूर्ति एके सीकरी और लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे भी शामिल थे।
खड़गे ने जस्टिस सीकरी और पीएम मोदी से असहमति जताते हुए आलोक वर्मा को हटाए जाने का विरोध किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...