निमोनिया ठीक करने के नाम पर मासूम को गर्म दांतली से दागा

0
38

चित्तौड़गढ़। मेवाड़ में बच्चों की जान अंधविश्वास की भेंट चढ़ रही है. बीमारी ठीक करने के नाम पर बच्चों को डाम लगाने (गर्म सलाखों से दागने) का सिलसिला थम नहीं रहा है.

इस बार मामला चित्तौड़गढ़ जिले से आया है, जहां एक साढ़े तीन माह के मासूम का निमोनिया ठीक करने के नाम पर कथित तांत्रिक भोपे ने उसे गर्म दांतली से जगह-जगह से दाग दिया गया. मासूम को भीलवाड़ा में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है.

जानकारी के अनुसार चित्तौड़गढ़ जिले के राशमी इलाके के हीराखेड़ीनिवासी गिर्राज के साढ़े तीन माह का बेटा है बालकिशन. उसे हाल ही में निमोनिया हो गया तो दादी बजाय अस्पताल ले जाने के उसे झाड़फूंक करने वाले भोपे के पास ले गई. भोपे ने इलाज के नाम पर घास काटने वाली दांतली को गर्म करके बच्चे के सीने को जगह-जगह से दाग दिया. इस दौरान मासूम चिल्लाता रहा और भोपा उसे निर्दयीतापूर्वक गर्म दांतली से दागता रहा.

अंधविश्वास में जकड़े हैं लोग
बाद में बच्चे की हालत बिगड़ने पर परिजन उसे शनिवार रात को भीलवाड़ा लेकर आए. यहां मातृ एवं शिशु चिकित्सालय में बच्चे को भर्ती कराया गया है. अब मासूम की हालत में सुधार बताया जा रहा है.

उल्लेखनीय है मेवाड़ के भीलवाड़ा व चित्तौड़गढ़ जिले समेत अन्य ग्रामीण इलाकों में लोग बीमारी को ठीक करने के लिए अंधविश्वास के चलते चिकित्सक के पास जाने की बजाय झाड़फूंक करने वाले भोपों की शरण में जाते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...