निर्माण एजेंसियों से तालमेल की कमी से ग्रामीण विकास की गति थमी

0
62

जयपुर। करोड़ों के बकाया भुगतान और मनमाफिक रेट नहीं मिलने से निर्माण एजेंसियां मनरेगा कार्यों के टेंडर में अपेक्षित रुचि नहीं दिखा रही हैं। नतीजतन जयपुर जिले में सार्वजनिक हित के विकास कार्य बुरी तरह प्रभावित हो रहे हैं। यही कारण है कि जिले में बड़ी संख्या में टेंडर क्लियर ही नहीं हो पा रहे हैं, नतीजतन ग्रामीण विकास कार्यों को ब्रेक लग गया है। मनरेगा निर्माण एजेसियों (ठेकेदारों) की भुगतान पेटे करोड़ों की राशि बकाया चल रही है।

हालांकि कई ठेकेदारों को भुगतान राशि जारी भी कर दी गई है लेकिन इस मद की एकमुश्त राशि जारी नहीं होने से बड़ी संख्या में ठेकेदार अभी भी भुगतान का इंतजार कर रहे हैं। वहीं निर्माण एजेंसियों की उम्मीद के मुताबिक इनको नए टेंडरों की रेट नहीं मिल रही है।

ऐसे में घाटे का सौदा मानकर ये एजेसियां टेंडर के लिए आवेदन नहीं कर रही हैं। जिले में निर्माण एजेंसियों का विशेषकर अटल सेवा केंद्रों, टांकों एवं सार्वजनिक भवनों सहित मेेटेरियल का भुगतान पिछले कई महीनों से बकाया चल रहा है।

मनरेगा कार्यों में श्रमिक नियोजन और नियोजित श्रमिकों के भुगतान को लेकर लेटलतीफी की समस्या के कारण पहले से विकास कार्य बाधित हो रहे हैं और अब इन कार्यों पर अब ठेकेदारों की उदासीनता का असर भी नजर आने लगा है।

निर्माण एजेंसियों की नाराजगी से पहले भी आ चुकी है बाधा
कुछ महीने पूर्व भुगतान संकट को लेकर पीडब्ल्यूडी के ठेकेदारों ने भी नए कार्यों से हाथ खींच लिए थे, जिससे कि ग्रामीण इलाकों में सड़कों एवं सार्वजनिक भवनों के निर्माण मेें ब्रेक लग गया था और अब मनरेगा से सम्बंधित ठेकेदार भुगतान संकट को लेकर नए विकास कार्यों में कोई रुचि नहीं दिखा रहे हैं। अधिकारियों की मानें तो जल्दी ही ठेकेदारों एवं श्रमिकों के भुगतान में बार-बार आ रही दिक्कतों को दूर किया जाएगा और इनका एकमुश्त भुगतान हो पाएगा।

इन कार्यों की गति हो रही प्रभावित
मनरेगा कार्यक्रम के तहत बड़ी संख्या में तालाबों की खुदाई का कार्य लम्बित है। इसके अलावा मौजूदा तालाबों को मॉडल तालाब के रूप में विकसित करने की महत्ती योजना भी इससेे प्रभावित हो रही है। जिले की गांव-ढाणियों के बीच सैकड़ों किलोमीटर लम्बी सड़कों का निर्माण भी अभी शेष रह गया है। गांवों में सर्वाधिक ग्रेवल सड़क और सम्पर्क सड़कों का निर्माण कार्य मनरेगा कार्यक्रम में टेंडर की बाधा के कारण प्रभावित हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here